सीनेटर मार्क रुबीओ ने गूगल के सेंसर्ड चीन सर्च इंजन की आलोचना की

नई दिल्ली: चीन में शुक्रवार को रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक सीनेटरों के एक समूह ने यह मुद्दा उठाया की  Google अपने प्रतिबंधित सर्च इंजन अल्फाबेट इंक के नए संस्करण को चीन में लांच करने की तैयारी कर रहा है. शुक्रवार को चीन ने फ्लोरिडा रिपब्लिकन के आलोचक सीनेटर मार्को रूबियो और Google मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुंदर पिचई को एक पत्र लिखा और उस पत्र में उन्होंने  प्रस्तावित सर्च इंजन “ड्रैगनफ्लाई के बारे में जवाब माँगा. 

इस पत्र में लिखा है कि ‘गूगल का यह सर्च इंजन चीन में मानवाधिकार के हनन करने वाला है.’  इस तरह विपक्ष चीन में इस इंजन को बेन करने पर सर्कार पर दवाब बन रहा है. लेकिन अब चीनी सरकार के लिए इसे बेन करना टेडी खीर साबित होने वाला है. बता दें कि ऐसा इसलिए भी हो रहा है क्योंकि दुनिया में सबसे बड़ा सर्च इंजन  उनकी अत्यधिक सेंसरशिप आवश्यकताओं का अनुपालन करने के लिए, और समझौता किए बिना चीन में व्यवसाय करने की मांग करने वाली अन्य कंपनियों के लिए एक चिंता का कारन भी है.

बता दें कि मानवाधिकारों के उल्लंघन के विरोध में  इसे एक बार चीन में 2010 में बेन भी कर दिया गया था.  Google ने पत्र के जवाब में कहा कि वह “भविष्य की योजनाओं के बारे में अटकलों” पर टिप्पणी करने से मना कर रहा है.

You May Also Like

English News