हर प्रकार के दर्द को दूर करती है हल्दी

हल्दी एक बहुत ही महत्वपूर्ण मसाला होती है. इसके इस्तेमाल से किसी भी  खाने का रंग और स्वाद बढ़ जाते हैं. हल्दी हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है. हल्दी में भरपूर मात्रा में विटामिन, मिनरल्स, फाइबर और प्रोटीन मौजूद होते हैं. इसके अलावा हल्दी में एंटी इंफ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट्स, एंटी फंगल और एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं. हल्दी का इस्तेमाल करने से किसी भी प्रकार के दर्द से आराम मिल सकता है. हल्दी एक बहुत ही महत्वपूर्ण मसाला होती है. इसके इस्तेमाल से किसी भी  खाने का रंग और स्वाद बढ़ जाते हैं. हल्दी हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है. हल्दी में भरपूर मात्रा में विटामिन, मिनरल्स, फाइबर और प्रोटीन मौजूद होते हैं. इसके अलावा हल्दी में एंटी इंफ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट्स, एंटी फंगल और एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं. हल्दी का इस्तेमाल करने से किसी भी प्रकार के दर्द से आराम मिल सकता है.     अगर आपको ऑस्टियोआर्थराइटिस, रूमेटाइड अर्थराइटिस, गठिया, मांसपेशियों में दर्द और फाइब्रोमायल्जिया से जुड़े दर्द रहते हैं तो हल्दी का इस्तेमाल करें.  हल्दी में करक्यूमिन नामक तत्व की भरपूर मात्रा पाई जाती है जो किसी भी प्रकार के दर्द को दूर कर सकती हैं. हल्दी का इस्तेमाल आप किसी भी रुप में कर सकते हैं. जैसे- हल्दी की चाय, हल्दी का दूध या हल्दी का पानी आदि.   ऑस्टियोआर्थराइटिस गठिया की तरह होता है इसमें जोड़ों में तेज दर्द होने लगता है. ऐसे में रोजाना हल्दी का पानी पीने से इस समस्या से छुटकारा मिलता है.      रूमेटाइड अर्थराइटिस होने पर शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है. जिसके कारण उंगलियों, कलाइयों, पैर, कूल्हे और कंधों में दर्द और सूजन की समस्या हो जाती है. इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए रोजाना दिन में दो बार हल्दी वाले दूध का सेवन करें.   अगर आपके मांसपेशियों में लगातार दर्द रहता है तो आप हल्दी दूध या हल्दी की चाय का सेवन कर सकते हैं. रोजाना इनका सेवन करने से मांसपेशियों का दर्द और सूजन खत्म हो जाते हैं.     फाइब्रोमायल्जिया के कारण पूरे शरीर में दर्द और थकान महसूस होने लगती है. ज्यादातर महिलाएं इस समस्या का शिकार होते हैं. एक रिसर्च के अनुसार रोजाना हल्दी का सेवन करने से फाइब्रोमायल्जिया की समस्या से छुटकारा मिल सकता है.

अगर आपको ऑस्टियोआर्थराइटिस, रूमेटाइड अर्थराइटिस, गठिया, मांसपेशियों में दर्द और फाइब्रोमायल्जिया से जुड़े दर्द रहते हैं तो हल्दी का इस्तेमाल करें.  हल्दी में करक्यूमिन नामक तत्व की भरपूर मात्रा पाई जाती है जो किसी भी प्रकार के दर्द को दूर कर सकती हैं. हल्दी का इस्तेमाल आप किसी भी रुप में कर सकते हैं. जैसे- हल्दी की चाय, हल्दी का दूध या हल्दी का पानी आदि. 

ऑस्टियोआर्थराइटिस गठिया की तरह होता है इसमें जोड़ों में तेज दर्द होने लगता है. ऐसे में रोजाना हल्दी का पानी पीने से इस समस्या से छुटकारा मिलता है. 

रूमेटाइड अर्थराइटिस होने पर शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है. जिसके कारण उंगलियों, कलाइयों, पैर, कूल्हे और कंधों में दर्द और सूजन की समस्या हो जाती है. इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए रोजाना दिन में दो बार हल्दी वाले दूध का सेवन करें. 

अगर आपके मांसपेशियों में लगातार दर्द रहता है तो आप हल्दी दूध या हल्दी की चाय का सेवन कर सकते हैं. रोजाना इनका सेवन करने से मांसपेशियों का दर्द और सूजन खत्म हो जाते हैं. 

फाइब्रोमायल्जिया के कारण पूरे शरीर में दर्द और थकान महसूस होने लगती है. ज्यादातर महिलाएं इस समस्या का शिकार होते हैं. एक रिसर्च के अनुसार रोजाना हल्दी का सेवन करने से फाइब्रोमायल्जिया की समस्या से छुटकारा मिल सकता है.

English News

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com