हिमा दास ने स्वर्ण जीतकर इतिहास रचा

आईएएफ वर्ल्ड अंडर-20 चैंपियनशिप की महिलाओं की 400 मीटर स्पर्धा में भारत की हिमा दास ने स्वर्ण जीत कर इतिहास बना दिया है. गुरुवार को फिनलैंड के टेम्पेरे में हिमा दास ने ये उपलब्धि पाई. हिमा मौजूदा अंडर 20 सत्र में सर्वश्रेष्ठ समय निकालने के कारण यहां खिताब की प्रबल दावेदार थी.  51.46 सेकेंड का समय निकालते हिमा ने राटिना स्टेडियम में खेले गए फाइनल में ये बड़ी जीत और उपलब्धि हासिल की. इस चैंपियनशिप में सभी आयु वर्गो में स्वर्ण जीतने वाली भारत की पहली महिला बनने का गौरव भी हिमा दास को मिला.  आईएएफ वर्ल्ड अंडर-20 चैंपियनशिप की महिलाओं की 400 मीटर स्पर्धा में भारत की हिमा दास ने स्वर्ण जीत कर इतिहास बना दिया है. गुरुवार को फिनलैंड के टेम्पेरे में हिमा दास ने ये उपलब्धि पाई. हिमा मौजूदा अंडर 20 सत्र में सर्वश्रेष्ठ समय निकालने के कारण यहां खिताब की प्रबल दावेदार थी.  51.46 सेकेंड का समय निकालते हिमा ने राटिना स्टेडियम में खेले गए फाइनल में ये बड़ी जीत और उपलब्धि हासिल की. इस चैंपियनशिप में सभी आयु वर्गो में स्वर्ण जीतने वाली भारत की पहली महिला बनने का गौरव भी हिमा दास को मिला.      साथ ही अब वह भाला फेंक के स्टार खिलाड़ी नीरज चोपड़ा की सूची में शामिल हो गई जिन्होंने 2016 में पिछली प्रतियोगिता में विश्व रिकॉर्ड प्रयास के साथ स्वर्ण पदक के साथ देश का गौरव बढ़ाया था. वह हालांकि इस प्रतियोगिता के इतिहास में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली ट्रैक खिलाड़ी हैं. विश्व जूनियर चैंपियनशिप में भारत के लिए इससे पहले सीमा पूनिया (2002 में चक्का फेंक में कांस्य) और नवजीत कौर ढिल्लों (2014 में चक्का फेंक में कांस्य) पदक जीत चुके हैं.   अप्रैल में गोल्ड कोस्ट में हुए राष्ट्रमंडल खेलों की 400 मीटर स्पर्धा में तत्कालीन भारतीय अंडर 20 रिकॉर्ड 51.32 सेकेंड के समय के साथ छठे स्थान पर तक पहुंच पाई थी. अब देश के खिलाड़ी क्रिकेट के आलावा भी कई खेलों में अच्छा प्रदर्शन कर रहे यही. हाल ही में राष्ट्रमंडल खेलों में भारत ने शानदार प्रदर्शन किया था.

साथ ही अब वह भाला फेंक के स्टार खिलाड़ी नीरज चोपड़ा की सूची में शामिल हो गई जिन्होंने 2016 में पिछली प्रतियोगिता में विश्व रिकॉर्ड प्रयास के साथ स्वर्ण पदक के साथ देश का गौरव बढ़ाया था. वह हालांकि इस प्रतियोगिता के इतिहास में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली ट्रैक खिलाड़ी हैं. विश्व जूनियर चैंपियनशिप में भारत के लिए इससे पहले सीमा पूनिया (2002 में चक्का फेंक में कांस्य) और नवजीत कौर ढिल्लों (2014 में चक्का फेंक में कांस्य) पदक जीत चुके हैं.

अप्रैल में गोल्ड कोस्ट में हुए राष्ट्रमंडल खेलों की 400 मीटर स्पर्धा में तत्कालीन भारतीय अंडर 20 रिकॉर्ड 51.32 सेकेंड के समय के साथ छठे स्थान पर तक पहुंच पाई थी. अब देश के खिलाड़ी क्रिकेट के आलावा भी कई खेलों में अच्छा प्रदर्शन कर रहे यही. हाल ही में राष्ट्रमंडल खेलों में भारत ने शानदार प्रदर्शन किया था.   

English News

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com