होम स्टे योजना से बहुरेंगे दिन, मिलेगा पर्यटन को बढ़ावा

उत्तराखंड सरकार में देशी-विदेशी पर्यटकों को अभूतपूर्व अनुभव प्रदान करने के साथ ही स्थानीय लोगों को रोजगार से जोड़ने के लिए पंडित दीनदयाल गृह आवास (होम स्टे) विकास योजना शुरू की है। सरकार का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण पर्यटन के विकास के साथ पर्यटकों को आवास की सुविधा देने के साथ स्थानीय लोगों को रोजगार से जोड़ना भी है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर पूरे देहरादून जनपद में इस वित्तीय वर्ष में डेढ़ सौ होम स्टे बनाने का लक्ष्य दिया गया है। डोईवाला विकासखंड के अंतर्गत भी योजना के क्रियावयन की दिशा में फार्म भी जमा किए जा रहे हैं।उत्तराखंड सरकार में देशी-विदेशी पर्यटकों को अभूतपूर्व अनुभव प्रदान करने के साथ ही स्थानीय लोगों को रोजगार से जोड़ने के लिए पंडित दीनदयाल गृह आवास (होम स्टे) विकास योजना शुरू की है। सरकार का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण पर्यटन के विकास के साथ पर्यटकों को आवास की सुविधा देने के साथ स्थानीय लोगों को रोजगार से जोड़ना भी है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर पूरे देहरादून जनपद में इस वित्तीय वर्ष में डेढ़ सौ होम स्टे बनाने का लक्ष्य दिया गया है। डोईवाला विकासखंड के अंतर्गत भी योजना के क्रियावयन की दिशा में फार्म भी जमा किए जा रहे हैं।   प्रदेश सरकार द्वारा नगर निगम क्षेत्र को छोड़कर राज्य के अन्य क्षेत्रों में नए गृह आवास विकसित करने के अतिरिक्त पूर्व से होम की स्टेट योजना के अंतर्गत पंजीकृत पुराने भवनों की आंतरिक साज सज्जा, उनका विस्तार, नवीनीकरण, सुधार एवं शौचालयों के निर्माण आदि के लिए योजना का लाभ अनुमन्य किया गया है।   योजना के अंतर्गत राजकीय सहायता का प्रावधान भी किया गया है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर स्थानीय लोगों को रोजगार से जोड़ने के लिए वर्ष 2020 के अंतर्गत पूरे राज्य में 5000 होम स्टेट बनाए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जबकि देहरादून जनपद के लिए इस वित्तीय वर्ष में डेढ़ सौ होम स्टेट बनाए जाने का लक्ष्य दिया गया है। जिला मुख्य विकास अधिकारी देहरादून जीएस रावत ने बताया कि उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद पर्वतीय क्षेत्र के लोगों को रोजगार से जोड़ने के लिए पंडित दीनदयाल उपाध्याय गृह आवास विकास योजना का शुभारंभ किया गया है।    होम स्टे योजना भी नहीं लुभा पा रही सैलानियों को यह भी पढ़ें उन्होंने बताया कि मुख्य हाइवे के किनारे बाहर से आने वाले पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए स्थानीय बेरोजगार युवक अपनी जमीन पर पर्यटकों के लिए स्टेट होम योजना के अंतर्गत कमरे बनाकर किराए पर दे सकते हैं। उन्होंने बताया कि बाहर से उत्तराखंड घूमने आने वाले पर्यटक यात्री इन आवासों पर रह भी सकते हैं। इससे स्थानीय युवाओं को रोजगार भी उपलब्ध हो पाएगा। उन्होंने बताया कि सरकार इसके लिए 25 प्रतिशत सब्सिडी के साथ लोन की व्यवस्था भी कर रही है। बड़कोट, भोगपुर, थानों, ऋषिकेश, हरिद्वार, डोईवाला मुख्य हाईवे के आसपास भी इस योजना के लिए आवेदन फार्म भरे जा रहे हैं।   सहायक खंड विकास अधिकारी डोईवाला बीएस नेगी ने बताया कि उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद द्वारा चलाई जा रही इस योजना से संबंधित आवेदन फार्म लाभार्थी डोईवाला विकासखंड से भी प्राप्त कर सकते हैं। इस योजना के संबंध में 16 जुलाई को मुख्य विकास अधिकारी देहरादून की अध्यक्षता में बैठक भी आयोजित की जा चुकी है

प्रदेश सरकार द्वारा नगर निगम क्षेत्र को छोड़कर राज्य के अन्य क्षेत्रों में नए गृह आवास विकसित करने के अतिरिक्त पूर्व से होम की स्टेट योजना के अंतर्गत पंजीकृत पुराने भवनों की आंतरिक साज सज्जा, उनका विस्तार, नवीनीकरण, सुधार एवं शौचालयों के निर्माण आदि के लिए योजना का लाभ अनुमन्य किया गया है। 

योजना के अंतर्गत राजकीय सहायता का प्रावधान भी किया गया है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर स्थानीय लोगों को रोजगार से जोड़ने के लिए वर्ष 2020 के अंतर्गत पूरे राज्य में 5000 होम स्टेट बनाए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जबकि देहरादून जनपद के लिए इस वित्तीय वर्ष में डेढ़ सौ होम स्टेट बनाए जाने का लक्ष्य दिया गया है। जिला मुख्य विकास अधिकारी देहरादून जीएस रावत ने बताया कि उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद पर्वतीय क्षेत्र के लोगों को रोजगार से जोड़ने के लिए पंडित दीनदयाल उपाध्याय गृह आवास विकास योजना का शुभारंभ किया गया है। 

उन्होंने बताया कि मुख्य हाइवे के किनारे बाहर से आने वाले पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए स्थानीय बेरोजगार युवक अपनी जमीन पर पर्यटकों के लिए स्टेट होम योजना के अंतर्गत कमरे बनाकर किराए पर दे सकते हैं। उन्होंने बताया कि बाहर से उत्तराखंड घूमने आने वाले पर्यटक यात्री इन आवासों पर रह भी सकते हैं। इससे स्थानीय युवाओं को रोजगार भी उपलब्ध हो पाएगा। उन्होंने बताया कि सरकार इसके लिए 25 प्रतिशत सब्सिडी के साथ लोन की व्यवस्था भी कर रही है। बड़कोट, भोगपुर, थानों, ऋषिकेश, हरिद्वार, डोईवाला मुख्य हाईवे के आसपास भी इस योजना के लिए आवेदन फार्म भरे जा रहे हैं। 

सहायक खंड विकास अधिकारी डोईवाला बीएस नेगी ने बताया कि उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद द्वारा चलाई जा रही इस योजना से संबंधित आवेदन फार्म लाभार्थी डोईवाला विकासखंड से भी प्राप्त कर सकते हैं। इस योजना के संबंध में 16 जुलाई को मुख्य विकास अधिकारी देहरादून की अध्यक्षता में बैठक भी आयोजित की जा चुकी है

You May Also Like

English News