OMG: सुपारी लेकर मारे गये थे महिला को मार दिया उसकी बेटी को, पढि़ए पूरी रिपोर्ट!

ललखनऊ: उत्तर प्रदेश के लखनऊ जनपद के गोसाईगंज इलाके में सितम्बर माह में हुई ललिता नाम की हत्या का खुलासा करते हुए पुलिस ने एक महिला सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। खुलास के बाद इस बात का पता चला कि असल में हत्यारे ललिता नहीं बल्कि उसकी बेटी शांति की हत्या करना चाहते थेए पर गलती से उन लोगों ने सोते वक्त ललिता की गोली मारकर हत्या कर दी थी। शूटरों को शांति की हत्या की सुपारी नूरबानों नाम की महिला ने दी थी। नूरबानो शांति की हत्या इसलिए करना चाहती थी क्योंकि उसके प्रेमी की नजदीकियां शांति से हो गयी थीं। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त तमंचा और बाइक भी बरामद कर ली है।


एसपी ग्रामीण डा सतीश कुमार ने बताया कि गोसाईगंज के पासिनडकवा गांव निवासी किसान लाला रावत की पत्नी ललिता की बीते एक सितम्बर की भोर में घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। इस संबंध में अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज की गयी थी।

इस मामले की छानबीन कर रही गोसाईगंज पुलिस ने बीती रात गौरियाकला गांव के पास गोसाईगंज पुलिस ने दो शूटरों बाराबंकी निवासी रामकुमार रावत और कन्हैई रावत को गिरफ्तार किया। पूछताछ की गयी तो दोनों ने ललिता की गोली मारकर हत्या करने की बात कुबूली।

पुलिस ने दोनों की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त तमंचा और एक बाइक भी बरामद की। आरोपियों ने बताया कि हत्या के लिए गोसाईगंज के चौहरिया गांव निवासी नूरबानों ने 5 लाख की सुपारी दी थी।

नूरबानो से शूटरों की मुलाकात उसके दो परिचितों गोसाईगंज निवासी राकेश टेलर और बाराबंकी जनपद निवासी रामनिहाल ने करायी थी। शूटरों के इस खुलासे के बाद पुलिस ने आरोपी नूरबानोए राकेश टेलर और रामनिहाल को भी गिरफ्तार किया।

मारना था शांति को मार दिया ललिता को
पुलिस ने जब पकड़े गये आरोपियों से पूछताछ की तो चौकाने वाला खुलासा हुआ। असल में आरोपी नूरबानो ने ललिता की बेटी शांति की हत्या के लिए शूटरों को 5 लाख रुपये की सुपारी दी थी। शूटरों को 20.20 हजार रुपये एडवांस दिये गये थे और तमंचा भी दिलाया गया था। आरोपी रामनिहाल और राकेश टेलर ने शांति की पहचान और उसका घर भी शूटरों को दिखाया था। काम होने के बाद सुपारी की बाकी रकम शूटरों को देने की बात कही गयी थी। घटना से एक दिन पहले राकेश टेलर ने गांव मेें ही दोनों शूटरों को ठहरने की व्यवस्था करायी थी। भोर के वक्त दोनों शूटर बाइक से ललिता के घर पहुंचे। उन लोगों ने बाइक को कुछ दूरी पर खड़ा कर दिया। इसके बाद दोनों ललिता के घर में घुस गये। घर में घुसते ही कन्हैई ने सो रही ललिता को शांति समझ कर गोली मार दी और वारदात के बाद दोनों फरार हो गये।

सुपारी की बाकी रकम भी शूटरों को नहीं मिली
इस घटना के बाद सुबह लोगों को इस बात का पता चला कि ललिता की गोली मारकर हत्या कर दी गयी है। इस पर साजिशकर्ताओं ने शूटरों से सम्पर्क किया और बताया कि उन लोगों ने शांति की जगह उसकी मां ललिता की गोली मारकर हत्या कर दी है। बावजूद इसके शूटरों ने बकाया रकम की मांग की तो आरोपियों ने गलत काम के चलते रुपये देने से इनकार कर दिया। शूटरों ने जब काफी दबाव बनाया तो आरोपी राकेश टेलर ने किसी तरह कुछ रुपये शूटरों को दिये।

सतीश नाम के युवक से नजदीक बनी वजह
एसपी ग्रामीण डा सतीश कुमार ने बताया कि शादीशूदा नूरबानो और पासिनडकवा गांव निवासी सतीश नाम के युवक के बीच प्रेम.प्रसंग था। इस बीच उसी गांव की रहने वाली शांति और सतीश के बीच नजदीकियां हो गयी। जिसके चलते सतीश नूरबानों का कम समय देने लगा। नूरबानो को जब इस बात की भनक लगी तो उसने शांति को रास्ते से हटाने की ठान ली। इसके लिए उसने अपने जाने वाले रामनिहाल से बात की। रामनिहाल और राकेश टेलर ने शूटरों से सम्पर्क किया और फिर पूरी वारदात को अंजाम दिया गया।

You May Also Like

English News