Exclusive: नौकरी तो मिली नहीं युवती को गवाने पड़े 13 हजार रुपये, पढि़ए कैसे!

लखनऊ: कृष्णानगर इलाके मेें रहने वाली एक युवती को आनलाइन नौकरी का आवेदन करना महंगा पड़ गया। एचडीएफसी बैंक की नौकरी दिलाने के नाम पर जालसाजों ने युवती से 13 हजार रुपये ठग लिये। ठगी का शिकार हुई युवती ने इस संबंध में अब कृष्णानगर कोतवाली मेें धोखाधड़ी व अमानत में खयानत की रिपोर्ट दर्ज करायी है।


कृष्णानगर के मानसनगर इलाके में चारू सक्सेना नाम की एक युवती अपने परिवार वालों के साथ रहती है। युवती मौजूदा समय में बेरोजगार होने की वजह से नौकरी की तलाश में लगी थी। नौकरी पाने के लिए उसने इंटरनेट की मदद ली। इंटरनेट पर एक वेबसाइट पर युवती ने बैंक संबंधी नौकरी का विज्ञापन देखा।

उसके बाद उसने अपना मोबाइल नम्बर व ई-मेल आईडी उस वेबसाइड पर अपलोड़ कर दिया। इसके बाद चारू के पास नीमिशा वर्मा नाम की एक युवती ने फोन किया। नीमिशा ने चारू से अपने शैक्षिक प्रमाण पत्र की स्कैन काफी डालने के लिए कहा। 21 जुलाई को चारू के पास अविका पाण्डेय नाम की एक युवती ने फोन किया और उससे कुछ सवाल-जवाब किये और चारू को बताया कि कुछ समय के बाद उसके पास कन्फ्रमेंश के लिए कॉल आयेगी।

चार दिन के बाद चारू के पास हार्दिक अवस्थी नाम के एक युवक ने फोन किया और उसने बताया कि वह एचडीएफसी बैंक के एचआर विभाग से बोल रहा है। हार्दिक ने चारू को जानकारी दी कि उसको नौकरी के लिए सलेक्ट कर लिया गया है। बस इसके बाद जालसाजों ने अपनी ठगी का खेल शूरू किया। उन लोगों ने चारू से रजिस्ट्रेशन , सेलरी एकाउंट खुलवाने से लेकर सिक्योरिटी मनी के नाम पर पैटीएम के माध्यम से 13 हजार रुपये ऐंठ लिये।

नौकरी पाने की चाह में चारू भी जालसाजों के कहने पर उनको रुपये देती रही। 13 हजार रुपये देने के बाद भी जब चारू को नौकरी संबंधित कुछ दस्तावेज नहीं मिले तो उसको कुछ शंका हुई। उसने जब छानबीन की तो पता चला कि उसके साथ ठगी की गयी है। इसके बाद चारू ने इस बात की शिकायत कृष्णानगर पुलिस से मिली। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में नीमिशा, अविका और हार्दिक अवस्थी के खिलाफ धोखाधड़ी व अमानत में खयानत की रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

loading...

You May Also Like

English News