… तो इसलिए बिजली विभाग के इंजीनियरों की पत्तिनयां हैं नाराज !

लखनऊ : छुट्टी के दिन भी दफ्तर बुला कर काम करने से बिजली विभाग के अवर अभियंता  नाराज हैं। विद्युत विभाग के अवर अभियंताओं का कहना है कि उन पर काम का दबाव बहुत अधिक है। अवकाश के दिन भी उन्हें दफ्तर बुलाया जाता है।

कभी अभियान पर जाना होता है तो कभी आला अधिकारी मीटिंग कर उन्हें विभिन्न मुद्दों पर खरी खोटी सुनाते हैं। साप्ताहिक अवकाश तक उनके नसीब में नहीं जिसके चलते उन्हें पारिवारिक कलह का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि अवर अभियंताओं की तमाम समस्याओं पर प्रशासन का ध्यान खींचने का प्रयास किया।

राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर्स संगठन की लेसा इकाई की बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा की गयी। संगठन के क्षेत्रीय सचिव आशीष कुमार मिश्रा ने कहा कि ब्रेक डाउन से लेकर रिकॉर्ड मेंटेन करने तक जेई के पास ढेरों जिम्मेदारियां हैं ऐसे में प्रबंधन ने उन्हें कई बार मांगे पूरी करने का आश्वासन दिया लेकिन आश्वासन को अमली जामा नहीं पहनाया गया। उन्होंने कहा कि जेई को सीढ़ी युक्त जीप उपलब्ध कराने की बात कही गयी थी लेकिन अभी तक वह नहीं मिली।

उपकेन्द्रों पर मानक के अनुरूप लाइन मैन के गैंग नहीं हैं। सुरक्षा उपकरणों की भारी कमीं है। उन्होंने कहा कि 31 को सभी अवर अभियंता मु य अभियंता लेसा कार्यालय पर मोटर साइकिलें खड़ी कर ध्यानाकर्षण विरोध प्रदर्शन करेंगे। श्री मिश्रा ने कहा कि बीते काफी समय से अवर अभियंताओं को अवकाश नहीं मिल रहे हैं। नये विद्युत संयोजन देना, विद्युत विच्छेदन अभियान, बकाया वसूली अभियान, महा अभियान, मेगा अभियान के साथ समीक्षा बैठकों की वजह से उन्हें साप्ताहिक अवकाश तक नहीं मिल पा रहे हैं। इससे उनको अपने पारिवारिक दायित्वों के निर्वहन में काफी समस्याएं आ रही हैं।

You May Also Like

English News