भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के यू टर्न से झुर्रीदार चेहरे वाले नेताओं पर छाई चमक

गांधीनगर। भाजपाध्यक्ष अमित शाह ने भोपाल में यह बयान दिया कि 75 पर सदस्य चुनाव नहीं लड़ सकते हैं, ऐसा कोई नियम पार्टी का है ही नहीं। पार्टी का हर एक व्यक्ति चुनाव लड़ सकता है। उनके इस बयान से राज्य के झुर्रीदार चेहरों पर चमक छा गई है। राज्य में 75 के आसपास की उम्र वाले 6 विधायकों और दो सांसदों के मन में चुनाव लड़ने पर वे क्या सोच रहे हैंभाजपा अध्यक्ष अमित शाह के यू टर्न से झुर्रीदार चेहरे वाले नेताओं पर छाई चमक
एक समय ऐसा भी था, जब अपनी उम्र के कारण उनकी टिकट कट जाने की पूरी संभावना थी। यहां के चार विधायक यही मानकर चल रहे थे। पर बदले हुए हालात में आनंदीबेन पटेल के लिए चुनाव लड़ने का रास्ता साफ हो गया है। 75 पार राज्य के दो सांसदों में लालकृष्ण आडवाणी और लीलाधर वाघेला का समावेश होता है। इसके अलावा ऊंझा के नारणभाई लल्लूभाई पटेल, सूरत ऊंघना के नरोत्तम पटेल की उम्र 75 हो गई है। दूसरी ओर 75 के करीब पहुंचने वाले परिवहन मंत्री और अहमदाबाद के ठक्कर बापानगर के विधायक वल्लभ काकडिया, गणदेवी के विधायक मंगूभाई पटेल, जूनागढ़ के विधायक महेंद्र मशरूं का भी समावेश होता है। आनंदीबेन पटेल, लीलाधर वाघेला और महेंद्र मशरूं से सम्पर्क नहीं हो पाया।
पार्टी आदेश दे, तो चुनाव लड़ने के लिए तैयार हूं
पार्टी की पॉलिसी को ध्यान में रखते हुए मैंने यह घोषणा की थी कि मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा, पर अब यदि पार्टी ने अपनी पॉलिसी रिव्यू की है, तो मैं चुनाव लड़ने को तैयार हूं। पार्टी सर्वोपरि है। पार्टी ने मुझे बहुत दिया है। नरोत्तम पटेल, ऊंधना।
पार्टी जो कहे, वह शिरोधार्य है। पार्टी यदि युवाओ को अवसर देना चाहती है, तो दे सकती है। पार्टी यदि यह चाहती है कि मैं चुनाव लड़ूं, तो लड़ूंगा, पार्टी कहेगी कि संगठन के लिए काम करो, तो वह काम भी करुंगा। पार्टी सर्वोपरि है। वल्लभ काकडिया, राज्य परिवहन मंत्री
पार्टी का निर्णय सर आंखों पर। मुझे कुछ नहीं कहना है, पार्टी जो कहेगी, वह करुंगा। मंगूभाई पटेल, गणदेवी।

You May Also Like

English News