अभी-अभी: पीएम नरेन्द्र मोदी ने किया हैंगिंग ब्रिज का उद्घाटन, जानिए खासियत!

उदयपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजस्थान के दौरे पर हैं पीएम ने यहां पर कई सड़क परियोजनाओं का उद्घाटन किया। सड़क परियोजनाओं के उद्घाटन से पहले पीएम ने यहां पर एक प्रदर्शनी भी देखी। पीएम ने हैंगिंग ब्रिज का भी उद्घाटन किया इस दौरान पीएम ने रैली को संबोधित किया।


उद्घाटन के दौरान रैली को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि जितनी सड़कें पिछले 60 साल में नहीं बनीए उतनी सड़कें हमने पिछले 3 साल में बनाई नितिन गडकरी ने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में सड़क बनने के काम में काफी तेजी आई है अब बिना किसी देरी के प्रोजेक्ट पूरा होता है। गडकरी बोले कि पहले राजस्थान में सड़क बनने में काफी दिक्कत आती थी।

गडकरी ने कहा कि इस पुल का भूमि पूजन भले ही कांग्रेस ने किया लेकिन इस काम को हमने पूरा किया है। बिना किसी पिलर का 1.4 किमी लंबाई यह हैंगिंग ब्रिज पिछले नौ साल से बन रहा अपनी तरह का पहला ब्रिज है जिसे बनाने में आठ देशों के इंजीनियरों की तकनीक का इस्तेमाल किया गया है वैसे देश का यह तीसरा हैंगिंग ब्रिज है।

चंबल नदी का यह झूलता हुआ ब्रिज 277 करोड़ की लागत से बना है। दरअसल चंबल में बड़ी संख्या में घडिय़ाल और मगरमच्छ हैं और यह इलाका क्रोकोडाइल सेंचुरी के नाम से जाना जाता है इसलिए एनवायरमेंट मिनिस्ट्री से इस ब्रिज के लिए क्लीयरेंस नहीं मिल रहा था। इसके बाद केंद्र की यूपीए सरकार ने कोरिया और जापान की मदद से बिना पिलर का ब्रिज बनाने का फैसला किया और 2008 में काम शुरु हुआ।

लेकिन 2009 में यह ब्रिज इंजीनियरों की लापरवाही से गिर गया और 48 लोगों की मौत इसके मलबे के नीचे दबने से हो गईण् इसके बाद दोबारा इस ब्रिज बनाने का काम 2014 में शुरू हुआण् इस ब्रिज का ट्रायल करते हुए कोटा के सांसद ओम बिड़ला ने कहा कि ये हैंगिंग ब्रिज पूर्वी और पश्चिमी भारत के सात राज्यों के राजमार्ग को जोड़ेंगें ब्रिज के उद्घाटन के बाद कोटा शहर से गुजरने वाले सभी वाहन इस हैंगिंग ब्रिज के गुजरेगें जिससे हादसों में भी कमी आएगी।

 

You May Also Like

English News