बड़ा फैसला: अब पीसीएस परीक्षा में किये गये कई फेरबदल, जानिए बदलाव !

लखनऊ: पीसीएस परीक्षा के दौरान इंटरव्यू में धांधली की तमाम शिकायतें आने के बाद उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग यूपीपीएससी  ने बड़ा बदलाव करते हुए साक्षात्कार 100 अंकों का कर दिया है। पहले यह 200 अंकों का होता था।


नई व्यवस्था वर्ष 2018 से लागू होगी। इससे लिखित परीक्षा का महत्व बढ़ जाएगा। साथ ही इंटरव्यू की आड़ में अधिक नंबर देकर परीक्षार्थियों को लाभ पहुंचाए जाने जैसी शिकायतें भी खत्म हो जाएंगी। आयोग के सचिव जगदीश ने बताया कि छह अक्टूबर को हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया था। इसे अंतिम मंजूरी के लिए शासन को भेज दिया गया है। सचिव का कहना है कि नियम के तहत लिखित परीक्षा के अधिकतम 12.2 फीसदी अंक ही इंटरव्यू में दिए जा सकते हैं।

आयोग में पहले से व्यवस्था थी कि इंटरव्यू में अधिकतम 200 अंक दिए जाएंगे। ऐसे में अक्सर शिकायतें आती थीं कि किसी को बहुत अधिक तो किसी को बहुत कम नंबर मिले और इससे परिणाम प्रभावित हुआ। अब ऐसा आरोप नहीं लगेगा। आयोग ने आईएएस की तर्ज पर पीसीएस मुख्य परीक्षा में भी केवल एक ऑप्शनल पेपर रखने का निर्णय लिया है। पहले दो ऑप्शनल पेपर होते थे। वहीं सामान्य अध्ययन के चार पेपर होंगे जबकि पहले दो पेपर होते थे। यह व्यवस्था पीसीएस परीक्षा- 2018 से लागू की जाएगी।

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग में अब तक 21 दिन पहले नोटिस देकर पीसीएस परीक्षा साक्षात्कार आयोजित किए जाने की व्यवस्था भी लेकिन आयोग ने नोटिस की मियाद घटाकर 15 दिन कर दी है। सचिव का कहना है कि यह व्यवस्था शुरुआत से चली आ रही थी। तब संचार के माध्यम बहुत कम हुआ करते थे। अब संचार क्रांति का युग है। ऐसे में अभ्यर्थियों को बहुत ही कम समय में सूचना पहुंचाई जा सकती हैए सो नई व्यवस्था के तहत साक्षात्कार के लिए 15 दिन पहले नोटिस दिया जाएगा।

इससे एक सप्ताह का समय बचेगा। यह व्यवस्था भी पीसीएस परीक्षा.2018 से लागू की जाएगी। पीसीएस परीक्षा के परिणाम समय से घोषित हों इसके लिए आयोग ने एक संशोधन और किया है। अब ऑनलाइन आवेदन के साथ ही हार्ड कॉपी जमा कराए जाने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। अब तक ऑनलाइन आवेदन के लिए 21 दिन दिया जाता था और इसके बाद 28 दिन का समय हॉर्ड कॉपी जमा करने लिए दिया जाता था। नई व्यवस्था के तहत ऑनलाइन आवेदन के साथ ही अभ्यर्थी उसकी हार्ड कॉपी जमा कर सकेंगे।

आवेदन की समय सीमा बीतने के बाद हार्ड कॉपी जमा करने के लिए एक सप्ताह का अतिरिक्त समय दिया जाएगा। यानी पूरी प्रक्रिया 28 दिन की होगी और इससे 21 दिनों की बचत होगी। पीसीएस परीक्षा-2017 में नायब तहसीलदार के 101 पद बढ़ा दिए गए हैं। ऐसे में पदों की संख्या बढ़कर 540 हो गई है।

इन पदों का अधियाचन पीसीएस प्रारंभिक परीक्षा संपन्न होने के बाद आयोग को मिला। परिणाम जारी होने तक जितने नए पदों के लिए अधियाचन आएंगेए उन्हें पीसीएस परीक्षा.2017 में शामिल कर लिया जाएगा। आयोग के सचिव जगदीश का मानना है कि इस परीक्षा में पदों की संख्या अभी और बढऩे की उम्मीद है। उधर प्रतियोगी छात्रों ने बीडीओ के रिक्त पड़े साढ़े तीन सौ पदों को भी पीसीएस-2017 में शामिल करने के लिए शासन को पत्र लिखा है। अगर उनकी मांग मान ली जाती हैं तो पदों की कुल संख्या काफी अधिक बढ़ सकती है।

You May Also Like

English News