Breaking News

मुख्यमंत्री योगी के सख्त निर्देश: संक्रमण से बचाव हेतु निरन्तर जागरूकता ज़रूरी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कोरोना से बचाव और उपचार की व्यवस्थाओं को सुदृढ़ बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि ‘ट्रेस, टेस्ट एण्ड ट्रीट’ नीति से प्रदेश में कोविड संक्रमण के मामलों में तेजी से कमी आयी है। कोविड संक्रमण कम हुआ है, किन्तु अभी समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए थोड़ी लापरवाही भी भारी पड़ सकती है। इसके दृष्टिगत लोगों को संक्रमण से बचाव के सम्बन्ध में निरन्तर जागरूक किया जाए तथा कोविड वैक्सीनेशन का कार्य पूरी गति  से संचालित किया जाए।
मुख्यमंत्री जी आज यहां लोक भवन में आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि विगत 24 घण्टों में प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 255 नए मामले प्रकाश में आए हैं। इसी अवधि में 397 संक्रमित व्यक्तियों का सफल उपचार करके डिस्चार्ज किया गया। वर्तमान में संक्रमण के एक्टिव मामलों की संख्या 4,000 से भी कम होकर 3,910 रह गयी है। पिछले 24 घण्टों में 2,44,4275 कोविड टेस्ट किये गये हैं। राज्य में अब तक कुल 05 करोड़, 57 लाख, 30 हजार 488 कोरोना टेस्ट किए गए हैं। राज्य में कोरोना संक्रमण की रिकवरी दर 98.5 प्रतिशत है।
मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि 06 लाख वैक्सीनेशन के निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष 21 जून, 2021 को प्रदेश में 07 लाख 29 हजार 197 वैक्सीन डोज एडमिनिस्टर की गयीं। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश में कोविड वैक्सीनेशन कार्य की यह निरन्तरता बनी रहे। ज्ञातव्य है कि अब तक राज्य में 02 करोड़ 63 लाख 22 हजार 777 वैक्सीन डोज दी जा चुकी हैं।
मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिए कि बाजारों आदि सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ एकत्र न होने पाए। इसके लिए प्रभावी प्रयास किये जाएं। आवागमन को सुचारु बनाये रखने तथा तथा कोरोना प्रोटोकॉल का पालन कराने के लिए व्यापक रूप से पब्लिक एड्रेस सिस्टम का प्रयोग किया जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि बाहर निकलने वाले लोग अनिवार्य रूप से मास्क का प्रयोग एवं दो-गज की दूरी के नियम का पालन करें। उन्होंने कहा कि कोरोना टेस्टिंग की कार्यवाही व्यवस्थित ढंग से चलती रहनी चाहिए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने कोविड-19 के लक्षणयुक्त अथवा संदिग्ध संक्रमित बच्चों को निःशुल्क मेडिसिन किट उपलब्ध कराने की व्यवस्था की है। 27 जून, 2021 से सभी जनपदों में निगरानी समितियों के माध्यम से बच्चों के लिए मेडिसिन किट वितरित की जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी अस्पतालों में ब्लैक फंगस के मरीजों के उपचार हेतु दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता बनी रहे।
सामुदायिक, प्राथमिक एवं उप स्वास्थ्य केन्द्रों तथा हेल्थ एवं वेलनेस सेण्टर के सुदृढ़ीकरण कार्य की प्रगति की जानकारी प्राप्त करते हुए मुख्यमंत्री जी ने इस कार्य की गति को और तेज करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी जनपदों में पीकू और नीकू वाॅर्ड की स्थापना के सम्बन्ध में तेजी से कार्यवाही की जाए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश में विभिन्न राज्यों से आने वाले लोगों का कोविड टेस्ट अवश्य किया जाए। इसके लिए बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन तथा हवाई अड्डों पर एन्टीजन टेस्ट की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। संक्रमण की दृष्टि से संदिग्ध लोगों का आर0टी0पी0सी0आर0 टेस्ट भी किया जाए। संक्रमण को प्रभावी ढंग से नियंत्रित रखने के लिए पर्याप्त संख्या में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की जाए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना काल की विषम परिस्थितियों के बावजूद प्रदेश सरकार ने किसान हित में एम0एस0पी0 के तहत पूरी तत्परता से गेहूं खरीद की। बैठक में मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि अब तक 56 लाख मीट्रिक टन से अधिक गेहूं खरीद की गई है। किसी एक वर्ष में यह प्रदेश में हुई सबसे अधिक गेहूं खरीद है। किसानों को 10,019 करोड़ रुपये से अधिक के गेहंू मूल्य का भुगतान किया जा चुका है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि उद्यमियों की स्थानीय समस्याओं का समाधान स्थानीय स्तर पर किया जाए। औद्योगिक विकास प्राधिकरणों की बैठक में स्थानीय औद्योगिक इकाइयों के प्रतिनिधियों को भी आमंत्रित किया जाए। औद्योगिक विकास के सम्बन्ध में उनसे व्यावहारिक सुझाव प्राप्त किए जाएं। मण्डल व जनपद स्तरीय उद्योग बन्धु की बैठक के माध्यम से मासिक समीक्षा की जाए।

English News

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com