Breaking News

आज हनुमान जी की कृपा के लिए करें ये एक उपाय

मंगलवार और शनिवार का दिन संकट मोचन बजरंग बली का होता है। इस दिन सच्‍चे मन से इनकी पूजा करने वालों की सभी इच्‍छाएं पूरी होती हैं। आप भी आज मंगलवार के दिन पवनसुत की इस विधि से पूजा कर मनचाहा आशीर्वाद पा सकते हैं। यूं तों हनुमान जी सबसे सरल देवों में गिने जाते हैं और अपने प्रभु श्रीराम के प्रति सच्‍ची श्रद्धा प्रकट करने वाले भक्‍त की पुकार जल्‍दी सुन लेते हैं। मगर कभी-कभी जीवन में आने वाली गंभीर परेशानियों से निजत पाने के लिए इनकी विशेष विधि से पूजा करने का विधान बताया गया है। इसमें सबसे प्रचलित है उनके मंदिर में आटे का दीया बनाकर उसमें दीपक जलाने का है। इस तरह से हनुमान जी की पूजा करने से जातक को कई तरह की परेशानियों से राहत मिलती है। इनमें से कुछ हम यहां बता रहे हैं

कर्ज से बाहर निकलने के लिए करें ये उपाय : घोर कर्ज में घिरे जातक मंगलवार के दिन आटे के पांच दीपक बनाएं। इसमें चमेली का तेल और बत्‍ती लगाकर बड़ के पांच पत्‍तों पर रखकर हनुमान जी के मंदिर में पांच मंगलवार तक जलाएं। ऐसा करने से कर्ज से जल्‍दी मुक्‍ति का मार्ग खुलेगा और मन को शांति मिलेगी।

शनि की बाधा दूर करने के लिए : शनि ग्रह से ग्रस्‍त जातक अगर शनिवार के दिन आटे के दीये में दीपक जलाकर हनुमान जी की विधि पूर्वक पूजा करतें हैं तो उन्‍हें राहत मिलती है। शनि का प्रकोप दूर होता है और संकटमोचर का आशीर्वाद प्राप्‍त होता है।

किसी साधना या सिद्धि के लिए : हनुमान जी के मंदिर में नियमित रूप से आटे का दीया बनाकर प्रत्‍येक मंगलवार पूजा करने से भक्‍त को विशेष सिद्ध प्राप्‍त होती है और उसकी साधना भी सफल होती है।

मंगलदोष दूर करने के लिए : मंगलवार के दिन आटे का पांच मुखी दीया बनाएं और उसमें सरसों का तेल डालकर बजरंग बली के मंदिर में पूजा करें। इससे मंगलदोष दूर होता है। साथ ही भक्‍त की हर मनोकामना भी पूरी होती है।

गृह कलह, विवाह, कोर्ट केस या संतान सुख के लिए : कई बार जब घोर संकटों में घिर जाते हैं और निकलने का कोई रास्‍ता नजर नहीं आता है, तो हनुमान जी की पूजा करने से न सिर्फ मन को शांति मिलती है बल्‍कि परेशानियों का हल भी मिलता है। गृह कलेश, जमीन-जायदाद के मसले, कोर्ट केस, नौकरी, जल्‍दी शादी या संतान प्राप्‍ति की इच्‍छा की पूर्ति के लिए हनुमान जी को प्रसन्‍न करने से राहत मिलती है। इसके लिए 11 मंगलवार तक हर मंगल को बढ़ते क्रम में आटे का दीपक बनाकर हनुमान जी के मंदिर में जलाना चाहिए। यह दीपक घटती और बढ़ती संख्‍या में जलाए जाते हैं। पहले दिन 1, अगले मंगल को 2, इसके बाद इसकी क्रम 11 मंगलवार को 11 दीपक जलाने चाहिए। इसी तरह अगले 11 दिन घटते क्रम में दीपक जलाए जाते हैं। हनुमान जी का यह उपाय भक्‍त को संकटों से उबारने वाला होता है। हालांकि इसे करने से पहले अपने पंडित या ज्‍योतिष के जानकार से सलाह जरूर लेनी चाहिए।

अपराजिता श्रीवास्‍तव

English News

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com