गणेश चतुर्थीः आज रात को न करे चांद के दर्शन, नहीं तो हो सकता है कुछ बुरा, जानिए क्या है रहस्य…

देशभर में गणेश चतुर्थी की धूम है। 10 दिन तक चलने वाला ये त्‍यौहार 25 अगस्त से शुरू हो रहा है, जो 5 सितंबर तक चलेगा। गणेश उत्सव भाद्र पद की शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है, क्योंकि इस दिन गणेश जी का जन्म हुआ था। पूरी श्रद्धा से गणपति की पूजा करने पर इनकी कृपा मिलती हैं, लेकिन इस दिन एक बेहद मामूली सी गलती भी आपकी साफ सुथरी खराब कर सकती है। दरअसल शास्‍त्रों के अनुसार गणेश उत्सव पर कुछ खास समय चांद को नहीं देखना चाहिए, ये अशुभ होता है। जानें किस समय न करें चांद के दर्शन गणेश चतुर्थीः आज रात को न करे चांद के दर्शन, नहीं तो हो सकता है कुछ बुरा, जानिए क्या है रहस्य...गणेश चतुर्थीः आज रात को न करे चांद के दर्शन, नहीं तो हो सकता है कुछ बुरा, जानिए क्या है रहस्य...

गणेश चतुर्थी आज: पूजा के लिए होंगे सिर्फ 2 घंटे 33 मिनट, इस प्रकार से करे गणपति की स्‍थापना

चतुर्थी तिथि 24 अगस्त को रात 08.27 पर शुरु हो गई है। इसी वजह से इस दिन रात 08.27 से लेकर रात 08.43 तक चांद को न देखें। इस 16 मिनट में चांद से बचने की कोशिश करनी चाहिए।

इसके अलावा 25 अगस्त यानी गणेश चतुर्थी वाले दिन सुबह 9.10 से रात 09.19 तक चन्‍द्रमा के दर्शन करने से बचें।

इस समय चांद को देखने से मिथ्या दोष या मिथ्या कलंक लगता है। यानी आप पर आने वाले समय में चोरी का झूठा आरोप लग सकता है। ऐसा माना जाता है कि एक बार जब भगवान गणेश चंद्रलोक से भोजन करने लौट रहे थे तो उनके हाथ में लड्डू अधिक होने के कारण गिरने लगे।
जिसे देखकर चंद्रदेव को हंसी आ गई और गुस्से में गणपति ने उन्हें श्राप दे दिया कि जो भी उनके दर्शन करेगा उस पर चोरी का आरोप लगेगा साथ ही उनका रंग भी काला हो जाएगा। अगर आप इस दिन गलती से चंद्रदेव को देख लेते हैं तो तुरंत इस मंत्र को बोलें।

                            सिंहः प्रसेनमवधीत्सिंहो जाम्बवता हतः। 
                            सुकुमारक मारोदीस्तव ह्येष स्यमन्तकः॥

 

You May Also Like

English News