जोड़ों के दर्द से छुटकारा पाने के लिए करें ये चार आसान योगासन

शरीर के जोड़ों में दर्द होना आजकल एक आम समस्या बनती जा रही है। पहले यह माना जाता था कि जोड़ों के दर्द से बुजुर्ग लोग ही परेशान होते हैं। लेकिन अब ऐसा देखने में आ रहा है कि अधेड़ उम्र के व्यक्तियों को भी जोड़ों के दर्द से जुझना पड़ रहा है। जोड़ों में होना वाला दर्द तकलीफदेह तो होता ही है लेकिन साथ ही साथ व्यक्ति को दिनचर्या के कामकाज करना भी मुश्किल कर देता है। आज के समय में अलग-अलग विज्ञापनों में जोड़ों के दर्द से निजात दिलाने के ढेर सारे दावे किए जा रहे हैं। लेकिन अभी भी सबसे कारगर तरीका योग है। जी हां, योग ऋषियों ने कई सारे ऐसे योग इजात किए हैं जिनसे जोड़ों के दर्द को दूर करना काफी आसान है।

जोड़ों के दर्द से छुटकारा पाने के लिए करें ये चार आसान योगासन

1. वीर-भद्रासन

यह आसन घुटनों को सुदृढ़ बनाने का काम करता है। इसके अलावा जकड़े हुए कन्धों को सक्रिय करने में भी सहायक रहता है| वीर-भद्रासन कन्धों से तनाव को कम करके आपकी शरीर को संतुलन प्रदान करने का काम करता है| इस प्रकार से जोड़ों के दर्द यह आसान निजात दिलाता है।

अभी-अभी: राम रहीम पर रामदेव ने दिया बड़ा बयान, कह- ‘जो अपराधी है, सज़ा भुगते और आचरण में सुधार लाए’

2. धनुरासन

यह आसान मुख्य रूप से बंध कंधो को खोलता है। साथ ही साथ पीठ को लचीला बनाने में काम आता है। धनुरासन करने से शरीर से तनाव व जड़कन को दूर किया जा सकता है। इसे आप थोड़ी सरलता से कर भी सकते हैं।

3. त्रिकोणासन

त्रिकोणासन करने से टांगों, घुटनों और टखनों को मजबूती मिलती है। यह योगासन सायटिका और कमर-दर्द में भी राहत प्रदान करता है। इसके अलावा इस आसन के नियमित अभ्यास से घुटनों की नस, कमर, जंघा की संधि और नितम्ब में तनाव पैदा होता है। इस तनाव से शरीर के इन अंगों को गतिशीलता मिलती है।

4. सेतु-बंध आसन

सेतु-बंध आसन करने से घुटनों की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है। साथ ही साथ ऑस्टियोपोरोसिस रोग में भी लाभकारी साबित होता है। यह आसन मस्तिष्क को शांत रखता है और ध्यान क्षमता बढ़ाने में मदद करता है। यह आसान मानसिक तनाव को काफी हद तक कम कर देता है। सेतु-बंध आसन का नियमीत अभ्यास काफी फायदेमंद है। जिनको जोड़ों में दर्द ना हो, वो भी इसे कर सकते हैं।

You May Also Like

English News