नेशनल पेंशन स्कीम से घर बैठे जुड़ें, नहीं लगाने पड़ेंगे आफिस के चक्कर

सरकारी विभागों में पेंशन व्यवस्था को खत्म करने के बाद उन बुजुर्गों के लिए सबसे ज्यादा परेशानी खड़ी हो गई जिनके लिए पेंशन ही एकमात्र सहारा था। अपनी जिंदगी के 25 साल से अधिक सरकारी सेवा में देता है लेकिन उसे नौकरी के बाद पेंशन का अधिकार नहीं है। इसलिए सरकार की ओर से नेशनल पेंशन स्कीम यानी राष्ट्रीय पेंशन योजना शुरू की गई थी।

यह बाजार आधारित पेंशन योजना थी जिसमें पैसा जमा करना होता और आपके पेंशन का सहारा बनता है। यह सिर्फ सरकारी के लिए नहीं बल्कि प्राइवेट नौकरीपेशा लोगों के लिए भी है। कोरोना महामारी आने के बाद बैंक व अन्य कार्यालय न जा पाने वाले इस योजना में निवेश नहीं कर पा रहे हैं। तो आइए जानते हैं घर बैठे कैसे इस योजना का हिस्सा बने।

आनलाइन खोलें खाता, होगी आसानी
नेशनल पेंशन स्कीम में आनलाइन खाता खोलने से काफी कई प्रकार की समस्याओं का अंत हो जाएगा। दरअसल, किसी भी प्रकार की सरकार योजना में निवेश करने के लिए उन लोगों को काफी दिक्कत होती है जो टेक सेवी नहीं हैं। वैसे तो एनपीएस का खाता आप किसी भी बैंक या डाक घर में जाकर खुलवा सकते हैं लेकिन सरकार की ओर से दी गई इस सहूलियत से आपको काफी फायदा होगा और व्यर्थ का इधर से उधर जाने से मुक्ति भी मिलेगी।

ऐसे खोलें खाता
नेशनल पेंशन स्कीम का खाता खोलने के लिए सबसे पहले उसकी वेबसाइट Enps.nsdl.com/eNPS या Nps.karvy.com खोलकर इस लिंक पर जाएं। यहां न्यू रजिस्टेÑशन यानी की नया पंजीकरण कर क्लिक करें और अपनी तमाम जानकारियां भरें। इसमें आपसे मोबाइल नंबर और अन्य जानकारी भरनी होगी। आपके मोबाइल नंबर एक ओटीपी से आपका पंजीकरण सत्यापित हो जाएगा। इसके बाद आप इसमें अपने बैंक की जानकारी भरें। उसके बाद अपने पोर्टफोलियो को चुने और फंड का भी चुनाव करें। उसमें बाद आप नामांकित व्यक्ति का नाम भरें या नामिनी। उसके बाद आपने जिस बैंक खाते की जानकारी भरी है उसी बैंक की आपको कैंसिल चेक भी देना होगा। आपको कैंसिल चेक के साथ में अपना फोटो और हस्ताक्षर अपलोड करना होगा। यह काम भी आपका घर बैठे हो जाएगा। अब आपको अपना निवेश एनपीएस यानी नेशनल पेंशन स्कीम में करना होगा। भुगतान करने के बाद आपना स्थायी रिटायरमेंट अकाउंट नंबर बन जाएगा। आपको आपके द्वारा किए गए भुगतान की रसीद भी मिलेगी। इसके लिए चिंता करने की जरूरत नहीं। निवेश करने के बाद ही ‘e-sign/print registration form’ पेज पर आपको जाना होगा। यहां आप पैन और नेटबैंकिंग के साथ अपना पंजीकरण कराना होगा। इससे आपकी नो योर कस्टमर यानी केवाइसी भी हो जाएगी। आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आपकी बैंक खाते की जानकारी मिलनी चाहिए अलग होने पर यह आपका आवेदन रद्द कर सकता है।

कैसे लें मदद
एनपीएस का आनलाइन खाता खुलवाने के लिए आप किसी जानकार की मदद ले सकते हैं। फार्म भरते समय ऐसे कई जगह और नाम आते हैं जहां आपको उसे भरने में परेशानी आती है। जैसे पोर्टफोलियो को कैसे भरा जाना है उसकी भी जानकारी होनी चाहिए। अभी एनपीएस की सुविधा देश भर में 22 बैंक दे रहे हैं। आप उनकी वेबसाइट में जाकर भी जानकारी ले सकते हैं। वैसे आपको बैंकों की जानकारी एनएसडीएल की वेबसाइट में मिल जाएगी।

एनपीएस से है फायदा
आपको तो पता ही होगा कि नेशनल पेंशन स्कीम न केवल आपके बुढ़ापे का सहारा बनती है बल्कि यह योजना आपको किसी प्रकार के टैक्स से भी बचाती है। जानकारी के मुताबिक, एनपीएस पर आयकर की धारा 80 सीसीदी (1), 80 सीसीदी (1बी) और 80 सीसीदी (2) के तहत टैक्स छूट मिलती है। यही नहीं आप एनपीएस पर सेक्शन 80उ यानी 1.50 लाख रुपये से अलग 50,000 रुपये की और छूट ले सकते हैं। यानी नेशनल पेंशन स्कीम में निवेश कर 2 लाख रुपये की छूट का फायदा उठा सकते हैं।

GB Singh

English News

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com