IND VS ENG: कप्तान कोहली ने अंग्रेजी गेंदबाजों को जमकर धूना, बनाया शतक!

लंदन: इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट में शतक ठोककर भारतीय कप्तान ने न केवल टीम को मुसीबत से निकाला बल्कि अंग्रेज गेंदबाजों की जमकर धुनाई भी की। 100 रन पर भारत के पांच विकेट गिर चुके थे लेकिन विराट ने अपने दम पर टीम को मझधार से निकाला। कोहली की इंग्लैंड में पहली टेस्ट सेंचुरी की बदौलत भारत ने बर्मिंगम टेस्ट में अपनी उम्मीदों को जिंदा रखा है।


गुरुवार को बर्मिंगम में बेन स्टोक्स की गेंद पर चौका मारते ही कोहली ने इंग्लिश धरती पर पहली बार टेस्ट सैकड़ा लगाया। यह उनके टेस्ट करियर का 22वां शतक है। कोहली ने इस पारी में 149 रन बनाए। भारत ने अपनी पहली पारी में 274 रन बनाए। इस लिहाज से वह इंग्लैंड के स्कोर 287 से 13 रन पीछे रह गया। कोहली ने 172 गेंद की अपनी पारी में 14 चौके लगाकर यह सेंचुरी पूरी की।

सेंचुरी लगाने के बाद कोहली के चेहरे की खुशी को खास तौर महसूस किया जा सकता था। यह पारी कोहली की आक्रामक पारी के विपरीत रही। उन्हें इंग्लैंड की मजबूत गेंदबाजी का सामना करना पड़ा। इसके अलावा पारी में काफी लंबे समय तक उन्होंने निचले क्रम के बल्लेबाजों के साथ उपयोगी साझेदारी की। उन्होंने पहले नौवें विकेट के लिए इशांत शर्मा के साथ 35 रन जोड़े जिसमें इशांत का योगदान पांच रनों का रहा।

कोहली को इसके बाद उमेश यादव का अच्छा साथ मिला। यादव ने हालांकि एक ही रन बनाया लेकिन उन्होंने दसवें विकेट के लिए कोहली के साथ 57 रन जोड़े। कोहली की 149 रनों की पारी किसी भारतीय कप्तान द्वारा खेली गई दूसरी सबसे बड़ी पारी है। 1990 में मोहम्मद अजहरुद्दीन ने मैनचेस्टर में 179 रनों की पारी खेली थी वहीं मंसूर अली खान पटौदी ने 1967 के इंग्लैंड दौरे पर लीड्स में 148 रनों की पारी खेली थी।

इंग्लैंड दौरे को कोहली के लिए निजी रूप से काफी चुनौतीपूर्ण माना जा रहा था। पिछली बार जब भारतीय टीम ने 2014 में इंग्लैंड का दौरा किया था तब कोहली का बल्ला रनों के लिए तरस गया था। पांच मैचों की सीरीज में कोहली 10 पारियों में सिर्फ 134 रन ही बना पाए थे। गुरुवार को बर्मिंगम में जब भारतीय टीम इंग्लिश गेंदबाजों के सामने जूझती नजर आ रही थी कोहली इकलौते बल्लेबाज रहे जो टिककर खेले।

कोहली को अपनी इस पारी के दौरान दो बार जीवनदान भी मिला। दोनों बार डेविड मिलान उनका कैच लपकने में असफल रहे। जब वह 21 रन पर थे तब जेम्स एंडरसन और 51 पर बेन स्टोक्स की गेंद पर उन्हें लाइफ मिली। कोहली जब बल्लेबाजी करने उतरे तो भारतीय टीम का स्कोर दो विकेट पर 54 रन था। उनके अलावा कोई भारतीय बल्लेबाज विकेट पर टिक नहीं सका।

You May Also Like

English News