INDvsENG: पहले दिन इंग्लैंड ने बनाए 285 रन, भारतीय गेंदबाजों का प्रदर्शन रहा शानदार !

लंदन: भारत और इंग्लैंड के बीच बर्मिंघम के एजबेस्टन में चल रहे पहले टेस्ट मैच के पहले दिन के आखिरी सत्र में वापसी करते हुए इंग्लैंड की पहली पारी को 9 विकेट के नुकसान पर केवल 285 रनों पर रोक दिया। इंग्लैंड की और से कप्तान जो रूट ने सबसे ज्यादा 80 रन बनाए और उनके साथ जॉनी बेयरस्टॉ ने अर्धशतक लगाते हुए 70 रनों की पारी खेली। केटन जेनिंग ने 42 रन बनाए। इसके अलावा इंग्लैंड का कोई भी बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल सका।


तीसरे सत्र में कप्तान जो रूट के आउट होने के बाद लगे झटकों से उबरने को ही थी कि ईशांत शर्मा के बाद अश्विन ने भारत के लिए नौवां विकेट लिया। अश्विन ने स्टुअर्ट ब्रॉड को एलबीडब्ल्यू आउट किया। 85 ओवर के बाद इंग्लैंड का स्कोर 9 विकेट पर 283 रन हो गया था। इससे पहले ईशांत ने भारत को आठवीं सफलता दिलाई। ईशांत ने पहले कप्तान विराट कोहली को नई गेंद लेने से मना कर दिया और उसके बाद फौरन ही आदिल राशिद को 13 रन पर आउट कर दिया।

ईशांत की एक अंदर आती हुई गेंद को आदिल राशिद समझ नहीं सके और गेंद तो सीधे उनके पैड पर लगी लेकिन अंपायर ने उन्हें आउट नहीं दिया जिसके बाद भारत ने तुरंत रीव्यू लिया और अंपायर को अपना फैसला बदलना पड़ा। इस तरह ईशांत को दिन की पहली सफलता मिली। एक समय 216 इंग्लैंड बड़े स्कोर की ओर बढ़ ही रही थी कि एक के बाद एक जमे हुए बल्लेबाज आउट हो गए और टीम इंडिया ने मैच में वापसी कर ली। इंग्लैंड का स्कोर 216 रन पर तीन विकेट था, लेकिन फिर 243 रन पर 7 विकेट हो गया।

भारत के लिए सांतवी सफलता आर अश्विन ने दिलाई और बेन स्टोक्स को अपनी ही गेंद पर कैच कर लिया। स्टोक्स 21 रन बनाकर आउट हुए। अश्विन के इस पारी में अब तीन विकेट हो गए थे। क्रीज पर अब सैम कुरैन के साथ आदिल राशिद मौजूद थे। इंग्लैंड के विकेट गिरने का सिलसिला कप्तान जो रूट के रन आउट होने के बाद शुरू हुआ था। आर अश्विन ने इंग्लैंड टीम के उपकप्तान जोस बटलर को शून्य पर एलबीडब्ल्यू आउट कर इंग्लैंड का छठा विकेट गिरा दिया। जो रूट के रन आउट होने के बाद उमेश यादव को पारी की पहली सफलता मिली। उन्होंने जॉनी बेयरस्टॉ को 70 के निजी स्कोर पर बोल्ड आउट कर दिया। 224 रन पर छह विकेट हो गए।

क्रीज पर दो नए बल्लेबाज थे बेन स्टोक्स का साथ देने सैम कुरैन आए थे। इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने अपना विकेट रन आउट होकर गंवा दिया। रूट ने इससे पहले जॉनी बेयरस्टॉ के साथ मिलकर कप्तानी पारी खेलते हुए टीम का स्कोर 200 के पार पहुंचा दिया था। रूट 80 रन बनाकर आउट हुएण् उन्हें भारत के कप्तान विराट कोहली ने आउट किया। रूट इंग्लैंड के 216 रनों के स्कोर पर आउट हुए उस समय जॉनी बेयरस्टॉ 66 रनों पर खेल रहे थे। रूट की जगह बेन स्टोक्स बल्लेबाजी करने आए।

तीसरे सत्र की शुरुआत से ही रूट और बेयरस्टॉ ने इंग्लैंड का स्कोर बढ़ाना शुरू कर दिया और पारी के 61वें ओवर में ही टीम का स्कोर 200 के पार कर दिया। इसके तुरंत बाद ही बेयरस्टॉ ने अपने टेस्ट करियर का 18वां अर्धशतक पूरा किया। जिसके बाद रूट और बेयरस्टॉ दोनों ने ही अपनी साझेदारी के 100 रन पूरे किएण् यह दोनों की टेस्ट मैचों में चौथी शतकीय साझेदारी थी। दूसरे सत्र में इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए अपने टेस्ट करियर का 41वां अर्शतक लगाया और चायकाल तक अपनी टीम की पारी का स्कोर तीन विकेट के नुकसान पर 163 रन कर था।

इसी दौरान जो रूट ने अपने करियर के 6000 रन भी पूरे कर लिए। 127 पारियों में 6000 रन पूरे करके जो रूट सबसे तेजी से 600 रन बनाने वाले इंग्लैंड के तीसरे बल्लेबाज बन गए। चाय तक रूट 65 रन बनाकर नाबाद थे वहीं उनका साथ जॉनी बेयरस्टॉ 27 रन बनाकर दे रहे थे। इसी सत्र में मोहम्मद शमी को अपना दूसरा विकेट मिलाण् शमी ने डेविड मलान को एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया। पारी के 40वें ओवर में ही शमी ने मलान को आउट कर मेजबान टीम को तीसरा झटका दिया। मलान 8 रन बना कर आउट हुए।

जब इंग्लैंड का स्कोर 100 रन हुआ ही था तब भारत को दूसरी सफलता मोहम्मद शमी ने दिलाई। सत्र के आठवें ओवर में शमी ने केटन जेनिंग्स को 42 के निजी स्कोर पर बोल्ड कर दिया। जेनिंग्स ने कप्तान जो रूट के साथ 72 रनों की अहम साझेदारी की। जेनिंग की जगह डेविड मलान क्रीज पर बल्लेबाजी करने आए थे। इस समय जो रूट 38 रन बनाकर क्रीज पर थे। लंच तक इंग्लैंड की पहली पारी को कप्तान जो रूट और केटन जेनिंग्स ने पहले झटके के बाद उबारने में सफलता हासिल कर ली थी। लंच तक इंग्लैंड का स्कोर 28 ओवरों में एक विकेट के नुकसान पर 83 रन हो चुका था।

कप्तान जो रूट 31 और जेनिंग्स 38 रन बना कर क्रीज पर मौजूद थे। भारत को एकमात्र सफलता एलिस्टर कुक के रूप में मिली थी। उन्हें अश्विन ने 13 के निजी स्कोर पर बोल्ड आउट किया था। इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए अच्छी शुरुआत की कोशिश की और पहले 8 ओवर तक अपने विकेट भी बचाए रखा लेकिन 9वें ओवर में अश्विन ने भारत को पहली सफलता दिलाते हुए एलिस्टर कुक को 13 के निजी स्कोर पर बोल्ड आउट कर दिया। अश्विन ने आठवीं बार कुक को टेस्ट मैचों में आउट किया है।

कुक दूसरे ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्हें अश्विन ने सबसे ज्यादा बार आउट किया। अश्विन ने सबसे ज्यादा बार डेविड वार्नर को 9 बार आउट किया है। इंग्लैंड ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। इंग्लैंड की ओर से एलिस्टर कुक के साथ केटन जेनिंग्स ने पारी की शुरुआत की और भारत को शुरुआती सफलता लेने से महरूम कर दिया। दोनों ने शुरुआती ओवर में रन बनाने के बजाए विकेट बचाने पर ध्यान तो दिया लेकिन मौका मिलते ही गेंद को सीमा रेखा के पार पहुंचाने से भी गुरेज नहीं किया। पहले 8 ओवर के बाद इंग्लैंड का स्कोर बिना कोई विकेट खोए 25 रन हो गया था।

सत्र में वहीं टीम इंडिया के बाकी गेंदबाजों का सफलता नहीं मिली, उमेश यादव ने सात ओवर में 29 रन दिए, ईशांत शर्मा और मोहम्मद शमी दोनों ने ही 6 ओवर में 17 रन दिए थे। जबकि हार्दिक ने केवल दो ही ओवर फेंके और केवल 6 रन दिए। इसके अलावा सत्र के सफल गेंदबाज अश्विन ने 7 ओवर में 13 रन देकर एक विकेट लिया। इनमें से सबसे ज्यादा मोहम्मद शमी ने प्रभावित किया और वे कई बार इंग्लिश बल्लेबाजों को परेशान करते दिखे।

भारतीय टीम में शिखर धवन को शामिल किया गया है। जबकि चेतेश्वर पुजारा को अंतिम 11 से बाहर रखा गया है। इसके अलावा केएल राहुल को टीम में शामलि किया गया है। इसके अलावा टीम में स्पिनर्स में केवल आर अश्विन को जगह दी गई है। विराट कोहली ने टीम में तीन गेंदबाज ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, और उमेश यादव को जगह दी है जबकि चौथे तेज गेंदबाज के रूप में हार्दिक पांड्या भी मौजूद रहेंगे। यह इंग्लैंड का 1000वां टेस्ट मैच होगा। इस मुकाम को हासिल करने वाली वह पहली टीम बनेगी। दोनों टीमों के लिए यह सीरीज अपने आप को साबित करने के लिए बेहद अहम मानी जा रही है।

You May Also Like

English News