अभी-अभी: नोटबंदी के आंकड़ों पर चिदंबरम ने दिया बड़ा बयान, कहा- ऐसे अर्थशास्‍त्री को मिले नोबेल

भारतीय रिजर्व बैंक ने नोटबंदी के बाद पुराने नोटों के सरकारी बैंकों में वापस आने से जुड़े आंकड़े बताए हैं. इसके बाद विपक्ष ने केंद्र सरकार पर हमला बोलना शुरू कर दिया है. सबसे पहला वार पूर्व वित्‍त मंत्री पी चिदंबरम ने किया है. आरबीआई के आंकड़ों पर तंज कसते हुए पी चिदंबरम ने सवाल किया कि क्‍या नोटबंदी काले धन को सफेद करने की योजना थी? अभी-अभी: नोटबंदी के आंकड़ों पर चिदंबरम ने दिया बड़ा बयान, कहा- ऐसे अर्थशास्‍त्री को मिले नोबेलकैबिनेट की मुहर: अब PSU अधिकारियों के बच्चों को नहीं मिलेगा ओबीसी आरक्षण का लाभ….

आपको बता दें कि आरबीआई ने सालाना रिपोर्ट में खुलासा किया कि नोटबंदी के बाद 1000 रुपये और 500 रुपये के 99 प्रतिशत नोट वापस आए हैं. आरबीआई ने बताया कि कुल 15 लाख 44 हजार करोड़ के पुराने नोट बंद हुए थे.

जाने क्यों? अनिल अम्बानी के घर में चारो तरफ बिखरे हैं बस नोट ही नोट….देखें तस्वीरें

इनमें से 15 लाख 28 हजार करोड़ की रकम बैंकों में लौटी है. नोटबंदी के बाद पुराने 1,000 रुपये के कुल 632.6 करोड़ नोटों में से 8.9 करोड़ नोट अब तक नहीं लौटे हैं. रिपोर्ट के मुताबिक नोटबंदी के बाद नोट की प्रिंटिंग की लागत में बड़ा इजाफा हुआ है.

You May Also Like

English News