Breaking News

घर की छत पर उगाएं हरी-भरी सब्जियां, ये स्टेप्स करें फॉलो

सुबह जल्दी उठकर घर के बाहर या फिर छत पर हरियाली देखें तो आपकी आंख और दिमाग को कितना अच्छा लगेगा. आपकी सुबह खुशी और उत्साह से भर जाएगी. अब देखिए हरियाली से इतने लाभ आपको सिर्फ देखने मात्र से मिल रहे हैं तो अगर यही हरियाली खाने में आप प्रयोग करें तो कितना अच्छा होगा. साग-सब्जियों का हमारे रोज के भोजन में महत्वपूर्ण स्थान है क्योंकि ये विटामिन, खनिज लवण, कार्बोहाइड्रेट, वसा व प्रोटीन के अच्छे स्रोत होते हैं. बाज़ार में आजकल सभी तरह की सब्जियां उपलब्ध है पर यह जरुरी नहीं की वह ताजी हों.

अच्छी इम्युनिटी के लिए अच्छी और ताज़ी सब्जियों का महत्व है. इसलिए आप अपने घर के आंगन में, घर की छत पर या आपके पास कोई खाली जमीन है तो आप आसानी से सब्जी बगीचा (किचन गार्डन) बना सकते हैं. इससे आपको शुध्द सब्जियां भी मिलेंगी और साथ ही आप इन सब्जियों को बेच कर कुछ पैसे भी कमा सकते हैं. तो आइए प्लान करते हैं कैसे आप किचन गार्डन बना सकते हैं.
घर पर सब्ज़ियां कहां-कहां लगा सकते हैं?

घर के आसपास खाली पड़ी जमीन में- हमारे घर के आस-पास कई ऐसी जगह नजर आती हैं जिसका उपयोग हम सब्ज़ियां उगाने के लिए कर सकते हैं. यदि वहां की मिट्टी ठोस हो तो पहले उसे खुदाई कर के खेत जैसी बना ले और संभव हो तो उसमें किसी तालाब की उपजाऊ मिट्टी और गोबर की खाद् आदि डालकर अच्छी तरह से जुताई कर दें. उसके बाद उसमें छोटी-छोटी क्यारियां बना कर उसमे आप अपनी मन-पसंद सब्जियों को लगा सकते है. यदि आपके पास सिंचाई के पानी की कमी हो तो किचन से निकले व्यर्थ पानी को आप पाइप के द्वारा सब्जियों की सिंचाई कर सकते हैं.

गमले और प्लास्टिक ट्रे में- गमले में सब्जी उगाने के लिए आपको ज्यादा जगह की जरूरत नहीं पड़ती है, बालकनी या ऐसी थोड़ी सी भी खाली जगह जहां गमला रख सकते हैं वहां बहुत आसानी से गमले में सब्जियों को उगा सकते हैं. गमला मिट्टी का हो तो यह काफी अच्छा रहेगा.

इसके अलावा आप अपने घर पर पड़ी खराब बाल्टियां, तेल के पीपे, लकड़ी की पटरियां आदि भी उपयोग कर सकते हैं बस उनके नीचे 2 या 4 छेद कर के पानी की निकासी जरूर कर दें. गमलो में टमाटर, बैंगन गोभी जैसी सब्ज़ियां आसानी से उगाई जा सकती हैं. टिन या प्लास्टिक ट्रे जिसमे 3 या 5 इंच मिटटी आती हो उसमें हम हरा धनिया, मेथी, पुदीना आदि सब्ज़ियां उगा सकते है.

घर की छत पर- सब्ज़ियां लगाने से पहले छत पर एक मोटी प्लास्टिक चादर बिछा दें फिर इटों या लकड़ी के पट्टियों से चारदीवारी बना लें उसमे सामान रूप से मिटटी बिछा दे और पानी की निकासी भी रखें. छत पर सब्जी लगाने से गर्मी के दिनों में आपका घर भी ठंडा रहता है जिससे आपको काफी राहत मिलेगी.

घर में कौन-कौन सी सब्जी लगा सकते हैं?
रबी में सब्ज़ियां सितम्बर-अक्टूबर में लगा सकते हैं जैसे- फूल गोभी, पत्तागोभी, शलजम, बैंगन, मुली, गाजर, टमाटर, मटर, सरसों, प्याज़, लहसुन, पालक, मेथी, आदि. वहीं खरीफ़ में लगाने का समय जून-जुलाई है. इस समय भिन्डी, मिर्च, लोबिया, अरबी, टमाटर, करेला, लौकी, तरोय, शकरकंद आदि सब्जियों को लगा सकते है. जायद में सब्ज़ियां फरवरी-मार्च और अप्रैल में लगाई जाती है. इसमें टिंडा, खरबूजा, तरबूज, खीरा, ककड़ी, टेगसी, करेला, लौकी, तरोय, भिन्डी जैसी सब्जी लगा सकते है.

सब्जी बगीचा के लाभ-
1. घर के चारो ओर खाली भूमि और व्यर्थ पानी व कूड़ा-करकट का सदुपयोग हो जाता है. मनपसंद सब्जियों की प्राप्ति होती है.
2. साल भर स्वास्थ्यवर्धक, गुणवत्तायुक्त व सस्ती सब्जी, फल एवं फूल प्राप्त होते रहते है.
3. परिवार के सदस्यो का मनोरंजन व व्यायाम का अच्छा साधन है, जिससे शरीर स्वस्थ रहता है.
4. पारिवारिक व्यय मे बचत होती है.
5. सब्जी खरीदने के लिये अन्यत्र जाना नही पड़ता.

सब्जी बगीचा लगाने के लिए ध्यान देने योग्य बातें-
1. घर के पिछले हिस्से में ऐसी जगह का चुनाव करें जहां सूरज की रोशनी पहुंचती हो क्योंकि सूरज की रोशनी से ही पौधे का विकास संभव है. पौधों को रोज 5-6 घंटे सूरज की रोशनी मिलना बहुत जरूरी होता है. इसलिए गार्डन छांव वाले जगह पर न बनाएं.
2. सब्जी बगीचा के एक किनारे पर खाद का गडढा बनाये जिससे घर का कचरा, पौधो का अवशेष डाला जा सके जो बाद मे सड़कर खाद के रूप मे प्रयोग किया जा सके.
3. बगीचे की सुरक्षा के लिये कंटीले झाड़ी व तार से बाड़ लगाये, जिसमे लता वाली सब्ज़ियाँ लगाये.
4. सब्जियो एवं पौधो की देखभाल एवं आने जाने के लिये छोटे-छोटे रास्ते बनाये.
5. रोपाई की जाने वाली सब्जियो के लिये किसी किनारे पर पौधशाला बनाये जहां पौध तैयार किया जा सके. आवश्यकतानुसार सब्जियो के लिये छोटी-छोटी क्यारियां और क्यारियो के सिंचार्इ हेतु नालियां बनाये.
6. फलदार वृक्षो को पश्चिम दिशा में किनारो पर लगाये जिससे छाया का प्रभाव अन्य पर ना पड़े.
7. मनोरंजन के लिये उपलब्ध भूमि के हिसाब से मुख्य मार्ग पर लान (हरियाली) लगाये.
8. फूलो को गमलो में लगाये एवं रास्तो के किनारो पर रखे.
9. जड़ वाली सब्जियो को मेड़ो पर उगाये.
10. समय-समय पर निराई -गुड़ाई एवं सब्जियो, फलो व फूलो के तैयार होने पर तुड़ाई करते रहे. सब्जियो का चयन इस प्रकार करे कि साल भर उपलब्धता बनी रहे.
11. कीटनाशको व रोगनाशक रसायनो का प्रयोग कम से कम करे यदि फिर भी उपयोग जरूरी हो तो तुड़ाई के पश्चात एवं कम प्रतीक्षा अवधि वाले रसायनो का प्रयोग करें. ऐसे आप अपने किचन गार्डन को बना सकते हैं.

By- कविता सक्सेना श्रीवास्तव

English News

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com