उत्तर कोरिया ने एक बार फिर हाइड्रोजन बम का किया परीक्षण….

अमेरिका की चेतावनी को अनसुना करते हुए उत्तर कोरिया ने एक बार फिर हाईड्रोजन बम का परीक्षण किया. भूकंप संबंधी जानकारी देने वाली निगरानी संस्थाओं ने उत्तर कोरिया के मुख्य परमाणु स्थल के निकट 6.3 तीव्रता का विस्फोट दर्ज किया. इसके बाद उत्तर कोरिया ने भी इस परीक्षण की पुष्टि करते हुए कहा कि उसने हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया, जो पूरी तरह सफल रहा. वहीं समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक, इस धमाके की ताकत पिछले या पांचवें परीक्षण से 9.8 गुना ज्यादा थी.उत्तर कोरिया ने एक बार फिर हाइड्रोजन बम का किया परीक्षण....HC का बड़ा फैसला, हरियाणा में जाट समेत 6 जातियों के आरक्षण पर जारी रहेगी रोक

इसी बीच, जापान ने पुष्टि की है कि उत्तर कोरिया ने रविवार को परमाणु परीक्षण किया और उसने इस संबंध में प्योंगयांग के पास औपचारिक विरोध दर्ज कराया है. जापान के विदेश मंत्री तारो कोनो ने रिपोर्टर को बताया कि सरकार मौसम एजेंसी की सूचना और अन्य सूचनाओं के बाद इस बात की पुष्टि करती है कि उत्तर कोरिया ने परमाणु परीक्षण किया. उन्होंने कहा कि सरकार ने पुष्टि से पहले बीजिंग में उत्तर कोरियाई दूतावास में विरोध दर्ज करा दिया है और कहा है कि किसी भी परीक्षण को बिल्कुल क्षमा नहीं किया जाएगा.

उत्तर कोरिया के एक और परमाणु परीक्षण करने संबंधी खबरों से हथियारों सबंधी उसकी महत्वकांक्षाओं को लेकर तनाव और बढ़ गया है. इससे कुछ ही घंटों पहले प्योंगयांग ने दावा किया था कि उसने एक ऐसा हाईड्रोजन बम विकसित किया है जिससे देश की नई अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल में लोड किया जा सकता हैं.

परमाणु परीक्षण को लेकर जापान सरकार के पुष्टि करने से पहले जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा, यदि उत्तर कोरिया परमाणु परीक्षण करता है तो यह कतई स्वीकार्य नहीं होगा. हम इसका कड़ा विरोध करेंगे. उन्होंने कहा कि जापान की मौसम एजेंसी ने भूकंपीय तरंगों का पता लगाया है. अपनी बात में आगे कहा कि इस बात की आशंका है कि यह प्राकृतिक भूकंप नहीं है और उत्तर कोरिया ने परमाणु परीक्षण किया हैं. 

इससे पहले, दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ ने एक बयान में बताया कि उत्तर कोरिया के पुंग्ये री परीक्षण स्थल के निकट भूकंप के झटके आने का पता चला है. अमेरिका जियोलॉजिकल सर्वे ने 6.3 तीव्रता का झटका दर्ज किया हैं. इसकी तीव्रता पहले परीक्षण के दौरान महसूस किए गए झटके से अधिक थी. यूएसजीएस भूभौतिकीविद् जाना पर्सले ने कहा कि यह भूकंप की जगह एक विस्फोट था

You May Also Like

English News