बैलिस्टिक मिसाइल का उत्तर कोरिया ने फिर किया परीक्षण, कहा- गुआम के लिए था, अमेरिका ने दी धमकी

उत्तर कोरिया ने अमेरिका को खुलेआम चेतावनी दी है. उत्तर कोरिया ने मंगलवार को बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण किया. उसने कहा कि ये परिक्षण में अमरीकी द्वीप गुआम के लिए था. लेकिन मिसाइल परीक्षण की उड़ान ने दूसरी दिशा ली और यह मिसाइल उत्तरी जापान के ऊपर से उड़ते हुए समुद्र में जा गिरी. इस पर अमेरिका ने भी कड़ी प्रतिक्रिया दी है. इस परिक्षण के बाद संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने आपात बैठक बुलाई. इस बैठक में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया को चेतावनी दी कि उनके सामने ‘सभी विकल्प खुले’ हैं.बैलिस्टिक मिसाइल का उत्तर कोरिया ने फिर किया परीक्षण, कहा- गुआम के लिए था, अमेरिका ने दी धमकीअभी-अभी: लालू प्रसाद यादव की बड़ी और भी मुसीबतें, सरकार ने दोनों बेटों से छीना उनका बंगला…..

उत्तर कोरिया ने कहा, “अमेरिका और दक्षिण कोरियाई सैन्य अभ्यासों का सामना करने के लिए एक मध्यवर्ती सीमा वाली बैलिस्टिक मिसाइल (आईआरबीएम) का परीक्षण किया था. इसमें उत्तरी प्रशांत महासागर क्षेत्र में सैन्य कार्रवाई के पहले कदम के रूप में अमेरिकी राज्य गुआम को “शामिल” किया था.”

जापान के ऊपर से उड़ी मिसाइल

उत्तर कोरिया ने मंगलवार को एक बार फिर बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण किया. जापानी सरकार का कहना है कि यह मिसाइल उत्तरी जापान के ऊपर से उड़ते हुए समुद्र में जा गिरी. यह उत्तर कोरिया के हालिया वर्षों में सबसे अधिक उकसाने वाले मिसाइल परीक्षणों में शामिल है. उत्तर कोरिया से छोड़ी गई मिसाइल ने करीब 2700 किलोमीटर की दूरी तय की. इसके बाद मिसाइल जापान के होकाइडो द्वीप के ऊपर से होकर गुज़री थी और फिर समुद्र में जा गिरी थी.

खुले सभी विकल्प

वहीं ट्रंप ने कहा,‘धमकी वाली और अस्थिरता वाली कार्रवाई क्षेत्र और विश्व के सभी देशों में उत्तर कोरिया को और अलग-थलग करती हैं. सभी विकल्प खुले हैं.’उन्होंने एक बयान में कहा कि विश्व को उत्तर कोरिया की ओर से नवीनतम संदेश जोर से और स्पष्ट रूप से मिल गया है, कि वह अपने पड़ोसियों और संयुक्त राष्ट्र के सभी सदस्यों के लिए खतरा है.

उत्तर कोरिया एक गंभीर खतरा

व्हाइट हाउस ने बताया कि ट्रंप ने इससे पहले इस मुद्दे पर जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से बात की. व्हाइट हाउस ने कहा,‘दोनों नेता इस बात पर सहमत हुए कि उत्तर कोरिया एक गंभीर खतरा है. उत्तर कोरिया अमेरिका, जापान, कोरिया गणराज्य और विश्व के सभी देशों के लिए सीधा खतरा बढ़ रहा है.’ 

शांति और सुरक्षा को कमजोर कर सकता है उत्तर कोरिया

शिंजो आबे ने उत्तर कोरिया के इस मिसाइल प्रक्षेपण को जापान के लिए अत्यंत गंभीर खतरा बताया जो क्षेत्र की शांति और सुरक्षा को बहुत कमजोर करता है.

मिसाइल परिक्षण की निंदा

वहीं संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने उत्तर कोरिया द्वारा बैलिस्टिक मिसाइल के नए प्रक्षेपण की निंदा की. उन्होंने कहा कि यह क्षेत्रीय सुरक्षा एवं स्थिरता और वार्ता का माहौल तैयार करने के प्रयास कमजोर करता है. उन्होंने यहां जारी एक बयान में बताया कि महासचिव ने उत्तर कोरिया सरकार से अपनी अंतरराष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं का पूर्णत: पालन करने और संवाद के माध्यम पुन: खोलने की दिशा में काम करने की अपील की है.

You May Also Like

English News