OMG: राज्यसभा के उपसभपति का पहला वेतन जान कर दंग हो जायेंगे आप!

नई दिल्ली: जदयू के राज्यसभा सदस्य हरिवंश नारायण सिंह उच्च सदन के डिप्टी चेयरमैन चुने गए हैं। उन्होंने यूपीए के प्रत्याशी बीके हरिप्रसाद को हराया। हरिवंश को 125 और हरिप्रसाद को 105 वोट मिले। इस मौके पर पीएम मोदी और नेता प्रतिपक्ष ने भी हरिवंश नारायण सिंह को बधाई दी। आईये जानते हैं हरिवंश की जिंदगी से जुटी कुछ अहम बातें।


हरिवंश का जन्म 1956 में बलिया के मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ। बीएचयू से इकोनॉमिक्स में एमए और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया। कॉलेज के दिनों में वह समाजवादी नेता जयप्रकाश नारायण जेपी से प्रभावित हुए। 1974 में जेपी आंदोलन में सक्रिय हिस्सा लिया। 40 साल की लंबी पत्रकारिता की शुरुआत 1977 में टाइम्स ऑफ इंडिया के ट्रेनी जर्नलिस्ट के रूप में शुरू की थी।

उसके बाद मुंबई में धर्मयुग पत्रिका से जुड़े और 1981 तक वहां काम किया। हरिवंश ने एक इंटरव्यू में कहा था कि उन्होंने 500 रुपये में अपनी पहली नौकरी शुरू की थी। 1981 से 84 के दौरान इन्होंने बैंक ऑफ इंडिया में काम किया। उसके बाद अमृत बाजार पत्रिका की मैगजीन रविवार में असिस्टेंट एडीटर बने। 1989 में उन्होंने उषा मार्टिन समूह के संघर्षरत अखबार प्रभात खबर की रांची में कमान संभाली।

जब वह प्रभात खबर पहुंचे तो उस वक्त इस अखबार का सर्कुलेशन महज 400 कॉपी ही था। 25 वर्षों तक इस अखबार के संपादक का दायित्व निभाने वाले हरिवंश के नेतृत्व में ही यह अखबार झारखंड का सर्कुलेशन के लिहाज से नंबर वन अखबार बना। इन्होंने झारखंड, बिहार और पश्चिम बंगाल में प्रभात खबर के कई संस्करणों को लांच किया।

1990 में जब चंद्रशेखर प्रधानमंत्री बने तो वह उनके एडीशनल मीडिया एडवाइजर बने। 25 वर्षों तक प्रभात खबर की कमान संभालने के बाद 2014 में राज्यसभा के लिए चुने गए। नीतीश कुमार की पार्टी जदयू ने उनको राज्यसभा भेजा। रोचक बात यह है कि जब उनको राज्य सभा भेजा गया तो वह जदयू के प्राथमिक सदस्य भी नहीं थे।

राज्यसभा में अपने निर्विरोध निर्वाचन के अनुभव के बारे में हरिवंश ने लिखा था कि वह बिना एक रुपया खर्च किए हुए राज्यसभा पहुंच गए। उन्होंने लिखा कि उन्होंने राज्यसभा के लिए नामांकन फॉर्म 10 हजार रुपये में खरीदा था। लेकिन निर्विरोध चुने जाने के कारण वह राशि उनको लौटा दी गई। लिहाजा राज्यसभा तक पहुंचने में उनका एक भी पैसा खर्च नहीं हुआ।

You May Also Like

English News