Breaking News

एक ग्लास में भी उगाया जा सकता है कमल का पौधा, फाॅलो करें ये स्टेप्स

कमल का फूल तो कीचड़ में खिलता है. ये दिखने में जितना सुंदर लगता है उनता ही इसको उगाने में दिक्कत आती है. ये सोच रखने वाले लोगों के लिए बता दें कि घर में भी कमल का फूल उगाया जा सकता है वो भी एक ग्लास में. ज्यादातर लोगों को यही लगता है कि घर में मोगरा, गुलाब, सेवंती, जासवंत, बोगनवेलिया जैसे फूल ज्यादा अच्छे लगते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि घर में कमल उगाना भी उतना ही आसान है जितना इन पौधों की केयर करना है. घर में कमल की शुरुआत एक ग्लास में पानी से ही की जा सकती है और जैसेजैसे ये बढ़ता रहे वैसेवैसे आप इसमें मिट्टी और पानी दोनों डालते रहें.

कलम के पौधे के बारे में सोचकर ही आपको शायद ये लग रहा हो कि ऐसा कैसे हो सकता है, लेकिन वाकई लोटस का पौधा उगाना और उसकी केयर करना बहुत आसान है. आज हम आपको कमल के फूल को उगाने का आसान तरीका बताएंगे. तो आइए जानते हैं.

यहां से लें कमल के बीज

कमल के बीज आप ऑनलाइन मंगवा सकते हैं या फिर आप नॉर्मल किराना स्टोर से ले सकते हैं. हां, किराना या जनरल स्टोर पर लोटस सीड्स कमल गट्टे के नाम से मिलेंगे. अगर आप किराना स्टोर से इन्हें ले रहे हैं तो थोड़े ज्यादा लेने की कोशिश करें क्योंकि ऐसा भी हो सकता है कि इनमें से कई सीड्स डैमेज निकलें. पर किराना स्टोर पर ये काफी सस्ते में मिलेंगे. आपको बस कमल के बीज पानी में डालकर देखने हैं. अगर बीज नीचे बैठ जाते हैं तो ये उगाने लायक हैं और अगर ये ऊपर तैर रहे हैं तो इनका कोई काम नहीं होगा.

कमल के बीज उगाने के लिए सबसे जरूरी स्टेप

कमल के बीज को उगाने के लिए सबसे जरूरी स्टेप है उसकी स्कारिंग. कमल के बीज का कोट बहुत ही हेवी रहता है ऐसे में उसे थोड़ा सा तोड़ना या घिसना पड़ता है जिससे कमल का बीज आसानी से पानी अपने अंदर ले ले और जर्मिनेशन प्रोसेस शुरू हो सके.

कमल के बीज के दो एंड्स होते हैं एक में छेद दिखता है और दूसरे में प्वॉइंटेड टिप. आपको छेद वाले साइड से तब तक इसे घिसना है जब तक इसका सफेद हिस्सा नहीं दिखने लगता. इसमें 15-20 मिनट आसानी से लग सकते हैं. आप नेल फाइलर का इस्तेमाल कर सकते हैं या फिर सिर्फ जमीन पर घिस सकते हैं. इसमें बीज के डैमेज होने का खतरा कम होता है.

अब बस एक ग्लास पानी में बीज को डाल दें

एक ग्लास पानी में अपने लोटस सीड को डाल दें. वो अपना काम करता रहेगा. अगर बहुत ज्यादा सीड्स हैं तो आप इसे दोतीन अलगअलग बर्तनों में भी रख सकते हैं. पर पहले शुरुआत छोटे बर्तनों से करें जिसमें 2-3 इंच पानी हो. ऐसा इसलिए क्योंकि अगर आपने इसे ज्यादा गहरे पानी में डाल दिया तो स्प्राउट पानी के ऊपर आने की जल्दी में रहेगा और इससे वो पतला होता जाएगा. शुरुआत एक ग्लास पानी से करना ही सबसे बेस्ट होता है.

बढ़ते स्प्राउट को किसी और बर्तन और मिट्टी में शिफ्ट करें

अब दोतीन दिन के अंदर आपको अपने लोटस के बीज में स्प्राउट्स दिखने लगेंगे. जब ये 2-3 इंच लंबे हो जाएं तो या तो आप इन्हें किसी और बर्तन में रख सकते हैं या फिर एक्सपेरिमेंट के तौर पर 1 बीज को 1 ग्लास पानी में नीचे थोड़ी मिट्टी डालकर उसमें गाड़ सकते हैं और इसके ऊपर थोड़ी रेत जरूर डालिएगा ताकि मिट्टी जमी रहे.

आप इसे किसी कांच की बॉटल आदि में भी उगा सकते हैं. अगर आप इसे पूरा पौधा बनाना चाहते हैं तो थोड़े और बड़े बर्तन में शिफ्ट कर दें. ऐसा तब तक करें जब तक इसमें जड़ें नहीं दिखने लगतीं. अब तक आपके लोटस में पत्तियां भी आ गई होंगी.

जैसे ही जड़ें दिखें इसे उसी तरह से किसी बड़े टब में नीचे मिट्टी डालकर 1 इंच मिट्टी में प्लांट करें. ध्यान रहे कि लोटस को चिकनी मिट्टी चाहिए होती है. आपको लोटस का पानी शुरुआत में हर दिन बदलना होगा और जब ये पौधा बन जाएगा तो इसे अगर बहुत बड़े टब में रखा है तो 1 महीने में एक बार ही पानी बदलें. ये तरीका बहुत ही आसान है और आप चौंक जाएंगे ये देखकर कि कमल का पौधा कितनी जल्दी उगता है, लेकिन कुछ बातों का ध्यान रखना होगा.

इन गलतियों को न करें 

कमल का पौधा बहुत नाजुक होता है और उसे बहुत हल्के हाथों से हैंडल करें. कमल के बीज को ऐसे न तोड़ें कि वो अंदर तक डैमेज हो जाए. अगर आप हथौड़े का इस्तेमाल कर रहे हैं तो बहुत हल्के हाथों से ये करें. कमल के पौधे को प्लास्टिक, मिट्टी, सिमेंट, बोन चाइना आदि में लगाया जा सकता है.

By- कविता सक्सेना श्रीवास्तव

English News

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com