मोहल्ला क्लीनिक से जुड़ी फाइलों पास कराने के लिए 7 घंटे उपराज्यपाल कार्यालय के पास बैठे AAP विधायक

आम आदमी पार्टी की महत्वाकांक्षी योजना मोहल्ला क्लीनिक को लेकर दिल्ली सरकार और उपराज्यपाल में एक बार फिर ठन गई है. दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल के आधिकारिक निवास पर बड़ा राजनीतिक घटनाक्रम देखने को मिला. बुधवार को मोहल्ला क्लिनिक से जुड़ी फाइलों को पास कराने के लिए आप विधायक करीब 7 घंटे तक उपराज्यपाल कार्यालय में बैठे रहे. हालांकि सभी विधायक रात 9 बजे उपराज्यपाल सचिवालय से इस आश्वासन के बाद बाहर आ गए कि एलजी गुरुवार को मोहल्ला क्लीनिक से जुड़ी फाइलों पर बैठक करेंगे. आप विधायकों का कहना है कि गुरुवार को शाम 5 बजे सीएम, स्वास्थ्य मंत्री और LG के बीच इस मुद्दे पर बैठक होगी.मोहल्ला क्लीनिक से जुड़ी फाइलों पास कराने के लिए 7 घंटे उपराज्यपाल कार्यालय के पास बैठे AAP विधायकHC मे मैरिटल रेप पर आखि‍री दौर की शुरू बहस, पुराने रुख पर कायम सरकार…..

बुधवार दोपहर उपराज्यपाल के कार्यालय में पहुंचे आप विधायक रात को करीब 9 बजे निकले. वास्तव में, मोहाला क्लिनिक के खिलाफ एक सतर्कता जांच लंबित है. उपराज्यपाल ने विधायकों के रवैये को आपत्तिजनक बताया. साथ ही बयान जारी कर कहा कि जबरन विधायकों का इतनी बड़ी संख्या में उपराज्यपाल कार्यालय में आना, विधायकों का बर्ताव, भाषा बेहद आपत्तिजनक है. जब घण्टे भर से ज्यादा वक्त तक विधायक बाहर नहीं निकले तो उपराज्यपाल सचिवालय के बाहर पुलिस फ़ोर्स बुलवाई गयी. शाम 5 बजे तक एलजी हाउस के पास के पूरे इलाके को सील कर दिया गया. रुक रुक कर पुलिस के आला अधिकारी उपराज्यपाल सचिवालय में जाते रहे. हालांकि आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा कि एलजी के साथ कोई बुरा व्यवहार नहीं किया गया.

वहीं मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मोहल्ला क्लीनिक को लेकर राजनीति नहीं होनी चाहिए. केजरीवाल ने उपराज्यपाल अनिल बैजल से मोहल्ला क्लीनिक से संबंधित फाइलों को मंजूरी देने का आग्रह किया. केजरीवाल ने ट्वीट किया है कि मोहल्ला क्लीनिक पर राजनीति नहीं होनी चाहिए. यह दो करोड़ दिल्ली वासियों के स्वास्थ्य से जुड़ा मामला है. उपराज्यपाल को इससे संबंधित फाइलों को जल्द से जल्द मंजूरी दे देनी चाहिए.

केजरीवाल ने अगले ट्वीट में लिखा, ‘देरी के कारण नागरिकों को परेशानी सहनी पड़ रही है. उपराज्यपाल को सभी संबंधित अधिकारियों से बात करनी चाहिए और बाधा को दूर करना चाहिए. अगर उपराज्यपाल चाहें तो मैं अपने मंत्रियों के साथ राज निवास आने के लिए तैयार हूं. उन्होंने आगे कहा, ‘फाइलें ऊपर-नीचे करने की बजाय उपराज्यपाल को सभी विरोधों को दूर करने दें. यह मेरा विनम्र निवेदन है.’

You May Also Like

English News