UPPSC की परीक्षाओं में अब नहीं चलेगी तुक्केबाजी, इंटरव्यू स्थल पर लगेंगे जैमर

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षाओं में अब तुक्केबाजी नहीं चलेगी। आयोग ने अपनी परीक्षाओं में माइनस मार्किंग की व्यवस्था लागू करने का निर्णय लिया है।UPPSC की परीक्षाओं में अब नहीं चलेगी तुक्केबाजी, इंटरव्यू स्थल पर लगेंगे जैमरBigBreaking: आम आदमी पार्टी का बड़ा ऐलान, अब गुजरात में चुनाव लड़ने का लिया फैसला और…

आने वाले दिनों में जो भी परीक्षाएं नए विज्ञापनों के तहत होंगी, उनमें यह व्यवस्था लागू की जाएगी।

आयोग ने अपने इस निर्णय से शासन को अवगत करा दिया है और इसके लिए शासन ने भी अपनी सहमति प्रदान कर दी है।

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने निर्णय लिया है कि संघ लोक सेवा आयोग की तर्ज पर वह भी अपनी परीक्षाओं में माइनस मार्किंग की व्यवस्था को लागू करेगा ताकि तुक्केबाजी करने वालों को भी आयोग की परीक्षाओं की गंभीरता का एहसास हो सके।

आयोग ने तय किया है कि नए विज्ञापन के तहत भविष्य में जो भी भर्तियां होंगी, उनमें बहुविकल्पीय प्रश्नों वाली लिखित परीक्षा में माइनस मार्किंग की व्यवस्था लागू की जाएगी।

आयोग के सचिव जगदीश के अनुसार इस निर्णय से शासन को अवगत करा दिया गया है। जल्द ही माइनस मार्किंग की व्यवस्था लागू हो जाएगी।

इसके साथ ही प्रयोग के तौर पर कुछ परीक्षाओं को ऑनलाइन कराया जाएगा।

अगर इसमें सफलता मिलती है तो भविष्य में इसे लागू किया जाएगा। इसके लिए पहले उन्हीं परीक्षाओं को चुना जाएगा, जिसमें परीक्षार्थियों की संख्या काफी कम है।

सीनियर पीसीएस ही प्रभारी अधिकारी इंटरव्यू

पिछली सरकार के कार्यकाल में आयोग में इंटरव्यू की प्रक्रिया को लेकर भी सवाल उठते रहे हैं। नए अफसरों ने अब इसमें पारदर्शिता लाने की कवायद शुरू की है।

इंटरव्यू से जुड़ी सभी व्यवस्था सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी प्रभारी अधिकारी की होती है। पहले प्रभारी अधिकारी इंटरव्यू के पद पर विभागीय उपसचिव स्तर के अधिकारी की तैनाती की जाती थी लेकिन अब यह जिम्मेदारी पीसीएस संवर्ग के वरिष्ठ अफसर संभालेंगे।

फिलहाल आयोग में तैनात पीसीएस अधिकारी सत्य प्रकाश को यह जिम्मेदारी सौंप दी गई है। शासन से आश्वासन मिला है कि जल्द ही एडीएम स्तर के किसी वरिष्ठ पीसीएस अधिकारी को इस पद पर तैनात किया जाएगा।

इंटरव्यू स्थल पर लगेंगे जैमर
उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की ओर से कराई गई भर्तियों की सीबीआई जांच के आदेश के बाद आयोग ने इंटरव्यू प्रक्रिया पर भी सख्त निगरानी का निर्णय लिया है।

तय हुआ है कि इंटरव्यू स्थल सभी फोन बंद रहेंगे। बेसिक फोन तो सीधे बंद किए जाएंगे और मोबाइल फोन वहां जैमर लगाया जाएगा। इसके लिए टेंडर आदि की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

You May Also Like

English News