अभी-अभी: नवाज शरीफ पर दर्ज हुए भ्रष्टाचार के 4 मामले, बढ़ी परिजन की परेशानी

इस्लामाबाद। हाई प्रोफाइल पनामा पेपर मामले में पाकिस्तान के राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो ने सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनके परिजन पर भ्रष्टाचार के 4 मामले दर्ज करवाए हैं। एनएबी ने कहा कि संयुक्त जांच दल ने एनएबी द्वारा जुटाई गई अन्य सामग्रियों, के आधार पर मामले तैयार किये हैं।अभी-अभी: नवाज शरीफ पर दर्ज हुए भ्रष्टाचार के 4 मामले, बढ़ी परिजन की परेशानीआखिर क्यों सुनील दत्त ने संजय दत्त की कर दी जमकर धुनाई…..

इस मामले में एनएबी के अधिकारी ने कहा कि 8 सितंबर के करीब जब टाईम लिमिट हो चुकी है, तो पूर्व न्यायालय के आदेशों का पालन करने पर रावलपिंडी, इस्लामाबाद की भ्रष्टाचार विरोधी अदालत में न्यायालयीन वाद दायर किया गया है। नवाज शरीफ पर भ्रष्टाचार के मामले को लेकर 28 जुलाई को न्यायालय ने सुनवाई की थी। सुनवाई में न्यायालय ने कहा था कि नवाज शरीफ और उनके बच्चों के विरूद्ध भ्रष्टाचार को लेकर प्रकरण दर्ज किया जाना चाहिए।

नवाज शरीफ उनके पुत्र हसन और हुसैन की बेटी मरियम, दामाद मुहम्मद सफदर व वित्तमंत्री इशाक डार आदि पर मामले चलाए गए। हैं।  सुप्रीम कोर्ट ने नवाज शरीफ और उनके पुत्रों, दामाद और वित्तमंत्री के विरूद्ध प्रकरण दर्ज करने के लिए एनएबी को आदेश दिया था। 

नवाज शरीफ को लेकर कहा गया कि जो मामले उनसे जुड़े हुए हैं उनमें उनके बच्चों व सफदर के विरूद्ध लंदन पार्क में लग्जरी फ्लैट की खरीदी का मामला शामिल है। एक अन्य मामला शरीफ व उनके पुत्र हुसैन के विरूद्ध अजीजिया स्टील कंपनी व हिल मैटल कंपनी की स्थापना से संबंधित है। जो तीसरा प्रकरण है वह शरीफ और उनके पुत्रों के विरूद्ध उनके परिजन द्वारा कुछ निजी कंपनियों की स्थापना से संबंधित है। चौथा मामला डार के विरूद्ध आय से अधिक संपत्ती से संबंधित है। यदि आरोपी इन मामलों में दोषी पाए जाते हैं तो फिर उन्हें अयोग्य ठहराया जा सकता है।

loading...

You May Also Like

English News