पढि़ए ! इश्क में पागल नईनवेली दुल्हन ने रचा ऐसा ड्रामा, सबके होश उड़ गये

लखनऊ : इश्क इंसान को पागल बना देता है। यह बात अक्सर सुनने को मिलती है पर एक नईनवेली दुल्हन के सिर पर इश्क का भूत इस कदर चढ़ गया कि शादी के चंद ही दिन के अंदर उसने बीमारी का बहाना बनाया और फिर अस्पताल से अपने प्रेमी के संग गायब हो गयी। दुल्हा अपनी दुल्हन को इधर-उधर तलाशता रहा पर कोई पता नहीं चल सका। इसके बाद मामला पुलिस तक पहुंचा तो पुलिस ने नवविवाहिता को उसके प्रेमी के साथ पकड़ लिया।

पीजीआई के कल्ली पश्चिम निवासी अनिल कुमार रावत का विवाह बीती 7 फरवरी को अमोल गांव निवासी श्याम रावत की बेटी 20 वर्षीय गुडिय़ा के साथ बडे धूम धाम से हुआ। बताया जाता है कि शादी के दिन ही गुडिय़ा की तबियत खराब हो गयी थी। घरवालों ने सभाखेड़ा स्थिति सनराईज अस्ताल में इलाज कराया और घर लेकर चले आये। इसके बाद रात मे विवाह हुआ और दुल्हन बनी गुडिया विदा होकर 8 फरवरी को अपने ससुराल चली गयी।

इसके बाद फिर गुडिय़ा की तबियत खराब हुई और उसको दोबारा से सनराईज अस्पताल मे भर्ती कराया गया। तीसरे दिन डाक्टरों ने उसको छुट्टी दे दी, पर हाथ में विगो लगा रहा। बताया जाता है कि शानिवार को गुडिय़ा ने हाथ में दर्द की बात अपने पति अनिल से कही। अनिल अपनी दुल्हन को लेकर अस्पताल पहुंचा और उसका वीगो निकलवाया। इसके बाद दुल्हन ने अपने पति से कहा डाक्टर से पूछ कर दवा ले लो।

पत्नी का हुक्म सुनते ही दुल्हा अनिल अस्पताल के डाक्टर से मिलने के लिए चला गया। कुछ देर के बाद जब वह वापस लौटा तो देखा कि उसकी पत्नी गायब थी। कुछ देर तो अनिल ने पत्नी का इंतजार किया, पर जब वह वापस नहीं लौटी तो अनिल ने इस बारे में अपने घरवालों और पत्नी के मायके वालों को बताया। इसके बाद वह लोग शिकायत लेकर पीजीआई कोतवाली पहुंचे और रिपोर्ट दर्ज करायी।
शादी से पहले दुल्हे को मिली थी धमकी
पीडित अनिल ने पुलिस को बताया कि शादी के एक सप्ताह पहले अमोल गांव निवासी और गुडिय़ा के प्रेमी रवि नाम के लड़के ने गुडिय़ा से शादी करने पर जाने से मारने की धमकी दी थी। अनिल ने इस बारे में गुडिय़ा के परिवार वालों को बताया था पर गुडिय़ा के परिवार वालों ने उसको महज किसी की शरारत बताते हुए टाल दिया था।
प्रेमी से पास मिली नई नवेली दुल्हन
नवविवाहिता के गायब होने के मामले में पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की और छानबीन शुरू की। सर्विलांस की मदद से पुलिस ने गुडिय़ा को उसके प्रेमी रवि के साथ पकड़ लिया। गुडिय़ा के मिलने पर उसके मायके और ससुराल वाले दोनों थाने पहुंच गये। इसके बाद पुलिस ने गुडिय़ा के ससुराल वालों को समझाने की कोशिश की पर वह लोग गुडिय़ा को साथ ले जाने के लिए किसी भी हाल में तैयार नहीं थे। इसके बाद पुलिस ने गुडिय़ा को उसके मायके वालों के हवाले कर दिया।
नवविवाहिता का कहना वह शादी के लिए राजी नहीं थी
इस पूरे मामले में गुडिय़ा का कहना था की उसने अपने परिवार वालों को पहले ही बता दिया था की वह रवि से प्यार करती है। बावजूद इसके घरवालों ने उसकी बात नहीं सुनी और अनिल से उसकी शादी करा दी।

You May Also Like

English News