अभी-अभी पकड़ गया आईएसआईएस मॉड्यूल का सरगान गौस मोहम्मद !

लखनऊ आईंएसआईएस के मॉड्यूल का सरगना गौस मोहम्मद को आज उत्तर प्रदेश एसटीएफ के हाथ चढ़ गया। वह लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में  किराये पर रह रहा था।  एसटीएफ ने उसको पीजीआई के तेलीबाग इलाके से गिरफ्तार किया। वहीं आरोपी गौस का एक साथी भी गिरफ्तार किया गया है। गौस मोहम्मद एयरफोर्स से रिटायर्ड है। वह एयरमैन के पद पर कार्यरत था। एसटीएफ    ने उसके पास से लैपटाप और मोबाइल फोन बरामद किया है।  


यूपी एसटीएफ ने मास्टरमाइंड रिटायर्ड एयरफोर्स कर्मी गौस मोहम्मद को तेलीबाग इलाके से गिरफ्तार किया, जबकि उसका एक साथी अजहर को कानपुर से पकड़ा गया है। गौस मोहम्मद एयरफोर्स में एयरमैन था। गौस 15 वर्ष तक एयरफोर्स में रहा। वही युवाओं का देश विरोधी गतिविधियों को लेकर उकसाता था। लखनऊ में मारा गया आतंकी सैफउल्ला उसका एक मोहरा था। भारत में आईएसआईएस की जड़ मजबूत करने का मास्टरमाइंड तो एयरफोर्स में काम कर चुका गौस मोहम्मद खान है।

पूछताछ में गौस मोहम्मद ने बताया कि वह सउदी अरब भी जा चुका है। एसटीएफ को उसके पास से एक लैपटाप और मोबाइल फोन भी मिला है। आरोपी गौस मौहम्मद उर्फ  अंकल ने एसटीएफ को बताया कि वह  मूलरूप से रायबरेली का रहने वाला है और वर्ष 1978 में वायुसेना मेें एसी के पद से नौकरी प्रारम्भ की थी और मद्रास में प्रशिक्षण के बाद विभिन्न राज्यों में नौकरी की तथा 1993 में सीपीएल पद पर प्रमोशन पाने के बाद उसने  वीआरएस ले लिया था।

वर्तमान में वह वायुसेना से पंैन्शन प्राप्त कर रहा है।  इसी मध्य अन्य नौकरी व धन अर्जित करने की तलाश में वह इधर-उधर घूमता रहा।  बीते 3 वर्षो से वह अपना परिवार कानपुर में छोड़कर ठाकुरगंज के बालागंज रस्तोगीनगर, लखनऊ में किराये का मकान लेकर रह रहा था तथा मृतक आतंकी सैफउल्ला को कमरा दिलाने, जरूरत का सामान उपलब्ध कराने में उसकी मदद करता था। इसके साथ ही वह राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में लिप्त हो गया।

काफी समय तक गौस मौहम्मद नौकरी के बहाने सऊदी अरब में रहा तथा कर्नाटक व नेपाल आदि क्षेत्रो में घूम-घूमकर नौजवानो से सम्पर्क कर राष्ट्रविरोधी गतिविधियों में लिप्त रहा।  

 

You May Also Like

English News