निलंबित एडीजे आरके श्रीवास अपनी माग को लेकर, साइकल से शुरू की ‘न्याय यात्रा’

नीमच। निलंबित एडीजे आरके श्रीवास शनिवार सुबह से साइकल पर ‘न्याय यात्रा’ शुरू कर दी है। 9 बिंदुओं की जांच और अनियमितता में सुधार की मांग को लेकर वे नीमच से जबलपुर के लिए साइकल पर निकले हैं।

निलंबित एडीजे आरके श्रीवास अपनी माग को लेकर, साइकल से शुरू की 'न्याय यात्रा'

श्रीवास जबलपुर पहुंचने पर हाईकोर्ट के गेट नंबर 3 के बाहर 3 दिवसीय सत्याग्रह करेंगे। मांगें नहीं मानी गईं तो वे दिल्ली कूच करने के लिए भी रणनीति तैयार करेंगे। उनकी साइकल यात्रा फिलहाल जबलपुर तक ही रहेगी। 15 महीने में 4 ट्रांसफर से खफा ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी और एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज एडीजे आरके श्रीवास पिछले दिनों जबलपुर हाईकोर्ट के सामने गेट पर बैठ गए थे।

ये भी पढ़े: अब राहुल गांधी शनिवार को जायेंगे गोरखपुर,पीडि़त परिवारों से करेंगे मुलाकात!

इसके बाद उन्होंने धरना खत्म कर 8 अगस्त की दोपहर में नीमच में ज्वॉइन किया था कि शाम को ही उन्हें निलंबित कर दिया गया। एडीजे श्रीवास ने 9 बिंदुओं पर जांच के लिए हाईकोर्ट में पत्र लिखा था इसमें खुद के स्थानांतरण, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के साक्षात्कार में पक्षपात सहित कई गंभीर आरोप लगाए थे। उनकी मांगों पर अभी तक जांच नहीं हुई।

यह है यात्रा का रूट

इनका रूट नीमच से 715 किमी दूर जबलपुर तक साइकल यात्रा पर श्रीवास मंदसौर होते हुए जावरा में रात्रि विश्राम करेंगे। अगले दिन उज्जैन पहुंचेंगे, यहां रात रुकेंगे फिर सोनकच्छ, सीहोर, मंडीदीप, बरेला, गाड़रवाड़ा, नरसिंहपुरा होते हुए जबलपुर पहुंचेंगे। वे रोज 90 से 100 किमी तक साइकल से सफर करेंगे।

 

You May Also Like

English News