बेंगलुरू में वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की गोली मारकर हत्या

बेंगलुरु। वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की मंगलवार को बेंगलुरु में गोली मारकर हत्या कर दी गई। पुलिस उपायुक्त एमएन अनुचेत ने कहा कि राज राजेश्वरी नगर में गौरी को उनके घर में ही गोली मारी गई। अनुचेत ने कहा कि जांच अभी चल रही है और अभी किसी संगठन का नाम लेना जल्दबाजी होगी।


55 साल की गौरी दक्षिणपंथी संगठनों के खिलाफ मुखर थीं और कई कट्टर हिंदूवादी संगठनों से उन्हें धमकियां भी मिल रही थीं। पिछले साल भाजपा सांसद प्रह्ललाद जोशी की ओर से दायर अवमानना के मामले में गौरी को दोषी पाया गया था। उन्हें छह माह की सजा और दस हजार का जुर्माना देना का आदेश दिया गया था। 

हालांकि इस मामले में उन्हें जमानत मिली हुई थी। पुलिस के मुताबिकए तीन संदिग्ध गौरी के घर में घुसे और उन पर नजदीक से गोलियां चलाईंए जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। वह सांध्य मैगजीन लंकेश पत्रिके की संपादक थीं। गौरी मशहूर कवि और पत्रकार पी लंकेश की बेटी थीं। गौरी ने सांप्रदायिक हिंसा को लेकर तमाम कट्टरपंथी संगठनों को निशाने पर रखा था। गौरी लंकेश साप्ताहिक कन्नड़ टैबलॉयड मैग्जीन लंकेश पत्रिके की संपादक थीं।

इसके अलावा कुछ दूसरे प्रकाशन की भी मालकिन थीं। कनार्टक के गृह मंत्री रामलिंगा रेडडी ने घटना की निंदा करते हुए इसे दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया। कैबिनेट मंत्री राज्यवद्र्धन सिंह राठौड़ ने बेंगलुरू में वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या की निंदा की है और कहा कि वह पत्रकारों के खिलाफ किसी भी तरह की हिंसा का विरोध करते हैं। वहीं कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी वरिष्ठ कन्नड़ पत्रकार की हत्या की निंदा की और कहा कि सच को कभी दबाया नहीं जा सकता। केंद्रीय खेल राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार राठौड़ ने टवीट किया बेंगलुरू से गौरी लोकेश की जन्य हत्या की खबर है। मैं पत्रकारों के खिलाफ हिंसा की निंदा करता हूंश्।
राहुल गांधी ने ट्वीट किया सच को कभी दबाया नहीं जा सकता। गौरी लंकेश हमारे दिलों में बसती हैं। मेरी संवेदनांए और प्यार उनके परिवार के साथ। दोषियों को सजा मिलनी चाहिए। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी महिला पत्रकार की हत्या पर शोक व्यक्त किया। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने टवीट किया गौरी एक तर्कशील थीं जिन्हें गोलियों से शांत करा दिया गया। उनकी हत्या उन लोगों को चुप कराने का प्रयास है जो विपरीत विचार रखते हैं। दुभाग्र्यपूर्ण है। केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने पत्रकार की हत्या पर शोक व्यक्त किया है।

loading...

You May Also Like

English News