कलयुगी बेटे ने की बुढ़ी मां की हत्या

लखनऊ: मां ने बेटे को शराब पीने से मना किया तो नशेड़ी बेटे ने मां की गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद उसने मां के शव को घर में ही छोड़कर ताला लगाकर भाग निकला। गुरुवार को जब महिला से मिलने के लिए उसका दामाद व अन्य लोग पहुंचे तो घर में दुर्गंध का एहसास हुआ। इस बीच आरोपी बेटे भी वहां आ गया। घर का दरवाजा खोला गया तो बुजुर्ग महिला का शव फर्श पर पड़ा मिला। इसके बाद परिवार वालों ने आरोपी बेटे को पकड़ कर पीजीआई पुलिस के हवाले कर दिया।
एसओ पीजीआई जुबैर अहमद ने बताया कि खरिका के भीमटोला इलाके में 60 वर्षीय चंद्रकला अपने बेटे किशन शर्मा के साथ रहती थी। किशन बढ़ई का काम करता है। वहीं चंद्रकला के पति चतुर लाल दिल्ली में मजदूरी करता है। बीते 15 अक्टूबर चंद्रकला अपने मूल जनपद अमेठी से दवा लेकर वापस अपने घर लौटी थी। चंद्रकला का हालचाल जानने के लिए उनका दामाद फैजाबाद निवासी रामराज व बेटी लगातार फोन कर रहे थे पर चंद्रकला ने फोन नहीं उठाया। उन लोगों ने चंद्रकला के बेटे किशन से भी सम्र्पक करने की कोशिश की पर उससे भी बात नहीं हो सकी।

गुरुवार को रामराज व परिवार के अन्य लोग चंद्रकला के घर पहुंचे। घर पर बाहर से ताला लगा था। इस बीच लोगों को घर के अंदर से दुर्गंध का एहसास हुआ। परिवार के लोग अभी कुछ समझ नहीं सके थे कि चंद्रकला का बेटा किशन वर्मा भी वहां पहुंच गया। लोगों ने जब उससे दुर्गंध के बारे में पूछा तो वह उलटे-सीधे जवाब देने लगा। लोगों का शक हुआ तो घर का दरवाजा खोला गया। दरवाजा खोलकर जब परिवार के लोग अंदर पहुंचे तो मंजर देख सन्न रह गये। कमरे में फर्श पर बुजुर्ग चंद्रकला का शव पड़ा था और शव कई दिन पुराना होने की वजह से सड़ गया था। परिवार के लोगों को किशन पर शक हुआ तो लोगों ने उसको पकड़ लिया।

इसके बाद जब लोगों ने किशन से चंद्रकला की मौत के बारे में पूछताछ की तो उसने मां की हत्या करने की बात कबूल ली। इसके बाद चंद्रकला का दामाद रामराज आरोपी किशन को अपने साथ पीजीआई थाने लेकर पहुंचा और उसको पुलिस के हवाले कर दिया। हत्या की सूचना पाकर मौके पर पीजीआई पुलिस भी पहुंच गयी। छानबीन के बाद पुलिस ने चंद्रकला के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इस मामले में पुलिस ने आरोपी किशन के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है।
शराब पीने से मना करने पर की थी मां की हत्या
आरोपी बढ़ई किशन शर्मा रोज घर शराब पीकर आता था। उसने बताया कि बीते 15 अक्टूबर की रात वह घर में बैठकर शराब पी रहा था। यह देख मां ने उसको मना किया और खाना खाने की बात कही। बस इस बात पर वह झल्ला गया और उसने मां की हत्या कर दी।
रात भर मां के शव के साथ सोता रहा आरोपी
किशन शर्मा घटना के वक्त शराब के नशे में इस कदर चूर था कि उसको इस बात का अंदाजा ही नहीं था कि वह क्या कर रहा है। मां की हत्या करने के बाद वह नशे की हालत में चुपचाप घर में ही सो गया। सुबह जब उसकी आंख खुली तो देखा कि मां की मौत हो चुकी है और उसके मुंंह से खून निकल रहा था। यह देख वह घबरा गया और ताला बंद कर भाग निकला।
पिता को दिल्ली घटना के बारे में बताने गया था
सीओ कैण्ट अवनिश कुमार ने बताया कि घटना के अगले दिन आरोपी मां के शव को घर में छोड़कर बाहर से ताला लगाकर दिल्ली चला गया। उसका कहना है कि वह दिल्ली अपने पिता को घटना के बारे में बताने के लिए गया था, पर वह दिल्ली पहुंचकर पिता से घटना के बारे में बताने की हिम्मत नहीं जुटा सका। इसके बाद वह वहां से 19 अक्टूबर की रात वापस लौट आया।

You May Also Like

English News