Accident: आगरा एक्सप्रेस वे पर भीषण हादसा, 6 की दर्दनाक मौत, देखिए तस्वीरें!

लखनऊ: आगरा एक्सपे्रस वे पर एक के बाद एक हो रहे सड़क हादसे इस एक्सप्रेस वे को खूनी रंग दे रहे हैं। शुक्रवार की सुबह घने कोहर के चलते दिल्ली से पूरे परिवार के साथ लौट रहे एक लांड्री मालिक की कार गलत दिशा से आ रहे ट्रक में जा भिड़ी। इस हादसे में कार में सवार लांड्री मालिक सहित परिवार के 6 लोगों की दर्दनाक मौत हो गयी। लांड्री मालिक की कार के पीछे चल रही दूसरी कार भी उसमें भिड़ गयी,जिससे कार में सवार तीन लोग घायल भी हुए।


एसपी ग्रामीण डा. सतीश कुमार ने बताया कि रायबरेली के अमेठी शिवरतगंज के बहंगी गांव में 30 वर्षीय विष्णु अपने परिवार के साथ रहता था। विष्णु अपने पूरे परिवार के लोग दिल्ली में रहकर लांड्री चलाता था। बताया जाता है कि गुरुवार की रात विष्णु अपनी पत्नी सुनीता, बेटी मुस्कान, बेटे रिषी, भाई रिंकू और मोहन के साथ अपनी सेंट्रो कार से गांव के लिए निकला था।

शुक्रवार की सुबह वह लोग आगरा एक्सप्रेस वे से होते ही लखनऊ की तरफ आ रहे थे। सुबह के वक्त हाईवे पर घना कोहरा था और दूर-दूर तक कुछ भी नहीं दिखाई पड़ा रहा था। इस बीच कटिंघरा स्थित नागेश्वर मंदिर के पास अचानक एक ट्रक उलटी दिशा से उन्नाव की तरफ जा रहा था। घने कोहरे के चलते कार चला रहा विष्णु गलत दिशा से आ रहे ट्रक को नहीं देख सका।

इस बीच उसकी कार तेज रफ्तार ट्रक में जा भिड़ी। कार और ट्रक के बीच भिड़त इतनी भयानंक थी कि कार के परखच्चे उड़ गये। कार में सवार सभी लोग बुरी तरह घायल हो गये। एक्सप्रेस वे पर हुए इस हादसे में कार में सवार सभी लोग बुरी तरह घायल हो गये। अचानक हुई इस घटना के बाद लोग मदद के लिए दौड़े, पर इस बीच विष्णु की कार के पीछे आ रही दूसरी कार भी उसमें टकरा गयी।

दूसरी कार में चौक के राजा बाजार निवासी वीरेन्द्र कुमार अग्रवाल, उनकी पत्नी भावन और चालक राकेश सवार थे। हादसे की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों की मदद से विष्णु और उसके परिवार को फौरन इलाज के लिए ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया, जहां एक के बाद एक सभी की मौत हो गयी। वहीं दूसरी कार में सवार वीरेन्द्र कुमार, उनकी पत्नी भावना और चालक मामूली रूप से घायल हुए। घटना के बाद भाग रहे आरोपी ट्रक चालक को काकोरी पुलिस ने किसी तरह दौड़ाकर पकड़ लिया।

भाई के लिए लड़की देखने जा रहा था परिवार
लांड्री मालिक विष्णु काफी समय से दिल्ली में रह रहा था। वह अपने भाई रिंकू की शादी के लिए लड़की देखेने के लिए पूरे परिवार के साथ गांव जा रहा था। हादसे में विष्णु और उसके परिवार के 5 लोगों की मौत ने पूरे परिवार में कोहराम मच दिया। गांव में मौजूद घरवाले विष्णू और उसके परिवार वालों का आने का इंतजार कर रहे थे। सुबह करीब 10 बजे घरवालों के पास फोन पहुंचा और हादसे की जानकारी दी गयी। हादसे की खबर मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। एक साथ एक ही परिवार के 6 लोगों की मौत से बहंगी गांव में मातम पसर गया। लोगों को यकीन ही नहीं हो रहा था कि हादसे में विष्णु और उसके परिवार की मौत हो गयी है।

वैष्णो देवी दर्शन कर लौट रहे थे वीरेन्द्र अग्रवाल
आगरा एक्सप्रेस वे पर हुई इस हादसे में घायल वीरेन्द्र अग्रवाल और उनका परिवार शायद खुश किस्मत रहा, जो उनकी जान बच गयी। वीरेन्द्र अपनी पत्नी भावना के साथ वैष्णो देवी मंदिर दर्शन कर लौट रहे थे। गाड़ी को उनका चालक राकेश चल रहा था। विष्णु की कार और ट्रक के बीच हुई टक्कर के बाद अचानक वीरेन्द्र की कार विष्णु की कार से टकरा गयी, पर चालक राकेश ने ब्रेक लगाते हुए रफ्तार को काफी हद तक कंट्रोल कार लिया, जिससे वीरेन्द्र, उनकी पत्नी और चालक को ज्यादा चोट नहीं लगी। लोगों का कहना है कि अगर वीरेन्द्र की कार की स्पीड अधिक होती तो हादसा और भयानंक हो सकता था।

रांग साइट के यातयात बन रहे हैं जानलेवा
ठंड के इस मौसम में जहां कोहरा खतरनाक साबित हो रहा है, वहीं हाईवे पर उलटी दिशा से चले रहे वाहन जानलेवा साबित हो रहे है। बिहार के मोतीहारी निवासी ट्रक चालक भी खाली ट्रक लेकर उन्नाव जा रहा था। वहीं दूसरी तरह दिल्ली की तरफ से कार से आ रहे विष्णु को गलत दिशा से आ रही ट्रक का अंदाजा भी नहीं था। एक्सप्रेव वे होने की वजह से कार की रफ्तार भी तेज थी, कोहर के बीच गलत दिशा से आ रहा ट्रक जब तक विष्णु को नज़र आता, तब तक देर हो चुकी थी और विष्णु की कार सीधे ट्रक में जा घुसी।

You May Also Like

English News