भारी बारिश का बुरा हाल: जो जहां था वहीं फंस गया, मुसीबत में फिर काम आई मुंबई की ‘लाइफलाइन’

मायानगरी मुंबई का तेज बारिश के कारण बुरा हाल है. जगह-जगह भरे हुए पानी और जाम ने मुंबईकरों की रफ्तार रोक दी है. लेकिन इस मुश्किल समय में भी जिस चीज ने लोगों का साथ दिया, वह थी मुंबई की जान कही जाने वाली लोकल ट्रेन. मुंबई लोकल पूरी रात चलती रही और फंसे लोगों को उनकी मंजिल पर पहुंचाया.भारी बारिश का बुरा हाल: जो जहां था वहीं फंस गया, मुसीबत में फिर काम आई मुंबई की 'लाइफलाइन'अभी-अभी: वित्त मंत्री के वकीलों ने केजरीवाल पर जानूबूझ कर केस को लंबा खींचने का लगाया आरोप….

तेज बारिश और पानी भर जाने के कारण कुछ समय के लिए तो मुंबई लोकल भी थम गई थी, लेकिन जैसे ही ट्रेन चालू हुई तो लोगों का जान में जान आई. सेंट्रल रेलवे की ओर से भी लगातार हर ट्रेन का रूट, टाइम ट्वीट किया जा रहा था, जिससे लोगों को ट्रेन के बारे में सटीक जानकारी मिल रही थी.

मुंबई की लाइफलाइन लोकल में एक दिन में करीब 65 लाख से अधिक लोग सफर करते हैं. कहते हैं कि अगर मुंबई लोकल रूक गई तो समझो देश की आर्थिक राजधानी की रफ्तार ही रूक गई. लेकिन इस घड़ी में लाइफलाइन ने मुंबई का बखूबी साथ दिया.

ना सिर्फ मंगलवार रात को बल्कि बुधवार सुबह से ही सेंट्रल रेलवे की ओर से ट्वीट कर जानकारी दी जा रही है. वहीं इसके लिए कई लोगों ने रेलवे का शुक्रिया भी अदा किया. कुछ मुसाफिरों ने ट्वीट किया कि हमें सुरक्षित घर पहुंचाने के लिए शुक्रिया, रेलवे!

मुंबई में सोमवार देर रात थमी बारिश मंगलवार सुबह से दोबारा जारी है. इस बीच मौसम विभाग ने अगले 2-3 दिनों तक भारी बारिश की आशंका जताते हुए रेड अलर्ट जारी किया है. नौसेना के हेलीकॉप्टरों को एहतियातन राहत और बचाव कार्यों के लिए तैयार रखा गया है और एनडीआरएफ को भी हाई अलर्ट पर रखा गया है. वहीं नौसेना के एक प्रवक्ता ने बताया कि बाढ़ बचाव दल और गोताखोर भी तैनाती के लिए तैयार हैं.

मकान ढहने से 3 की मौत

इससे पहले मुंबई में मंगलवार को 298 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई, जिससे वर्ष 2005 में आई आपदा की याद फिर ताजा हो गई. इस मूसलाधार बारिस की वजह से मुंबई के उपनगर विक्रोली में दो घरों के ढहने से दो बच्चों सहित तीन लोगों की मंगलवार को मौत हो गई.

You May Also Like

English News