उत्तर कोरिया ने संयुक्त राष्ट्र को लिया निशाने पर, कहा…

उत्तर कोरिया ने अपने खिलाफ प्रतिबंधों को समर्थन देने के लिए संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेज की आलोचना की है. उत्तर कोरिया पर परमाणु हथियार कार्यक्रम त्यागने के वास्ते अमेरिका के साथ बातचीत करने के लिए लगाए जाने वाले प्रतिबंधों का संयुक्त राष्ट्र ने समर्थन किया है. इस पर गुटेरेज की आलोचना करते हुए उत्तर कोरिया ने कहा है कि ऐसा लगता है कि विश्व निकाय के महासचिव अमेरिका के प्रतिनिधि के तौर पर काम कर रहे हैं.

उत्तर कोरिया ने संयुक्त राष्ट्र को लिया निशाने पर, कहा...

संयुक्त राष्ट्र में उत्तर कोरिया के मिशन ने एक बयान में कहा है कि अगर 70 साल पहले उत्तर कोरिया की स्थापना के साथ शुरू हुई अमेरिका की शत्रुतापूर्ण नीति नहीं होती और अगर इस नीति के चलते परमाणु संबंधी ब्लैकमेल और धमकियां दिनों दिन बढ़ती नहीं, तो कोरियाई प्रायद्वीप में परमाणु मुद्दा होता ही नहीं.

इस मिशन ने म्यूनिख में फरवरी में हुए सुरक्षा सम्मेलन के दौरान की गई गुटेरेज की टिप्पणी को ‘‘विवेकहीन’’ बताया. मिशन के अनुसार, वर्तमान हालात के लिए पूरी तरह से जिम्मेदार अमेरिका है और उसके खिलाफ एक शब्द नहीं कहा गया, जबकि पक्षपातपूर्ण तरीके से उनके देश को निशाना बनाया गया.

इससे पहले अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने कहा था कि शीतकालीन ओलंपिक के साथ-साथ दोनों कोरियाई देशों के बीच वार्ता के बावजूद उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम के खिलाफ अमेरिका और दक्षिण कोरिया एकजुट हैं. विश्लेषकों का कहना है कि उत्तर कोरिया के ओलंपिक कूटनीति अभियान का मकसद उसके खिलाफ अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों को कम करना और दक्षिण कोरिया तथा अमेरिका के बीच गठबंधन को कमजोर करना है. पेंस ने दक्षिण कोरिया के प्योंगचांग में खेलों के उद्घाटन समारोह में भाग लेने के बाद एयर फोर्स टू विमान में संवाददाताओं से कहा कि वह और राष्ट्रपति मून जेइ इन उत्तर कोरिया के खिलाफ ‘‘मजबूती से खड़े’’ हुए हैं. 

You May Also Like

English News