तीसरे वनडे: बुमराह ने खोला बड़ा राज, श्रीलंकाई दिग्गज से ही सीखकर की धारदार गेंदबाजी

श्रीलंका के खिलाफ तीसरे वनडे में शानदार प्रदर्शन करने वाले भारतीय गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने विपक्षी टीम के गेंदबाज से सीखकर ही अपने करियर को और निखारने के काम किया है. अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले तेज गेंदबाज बुमराह ने पल्लेकेल वनडे में जीत के बाद कहा कि वह हर नये मैच में कुछ नया सीखने की धुन से मैदान पर उतरते हैं.तीसरे वनडे: बुमराह ने खोला बड़ा राज, श्रीलंकाई दिग्गज से ही सीखकर की धारदार गेंदबाजीबैडमिंटन: विश्वचैंपियनशिप में पीवी सिंधु का स्वर्ण पदक जीतने का टुटा सपना….

श्रीलंका के खिलाफ तीसरे वनडे मैच में 27 रन देकर 5 विकेट लेने वाले बुमराह ने कहा कि उन्होंने मुंबई इंडियन्स की तरफ से खेलते हुए श्रीलंका के तेज गेंदबाज लसित मलिंगा से काफी कुछ सीखा. भारत की 6 विकेट से जीत में अहम भूमिका निभाने वाले बुमराह ने कहा कि वह पहली बार श्रीलंका के दौरे पर आए हैं और इससे पहले यहां कभी नहीं खेले इसलिए अलग परिस्थितियों में खेलना हमेशा बड़ी चुनौती होती है.

पल्लेकेल वनडे के मैन ऑफ द मैच बुमराह ने कहा कि वह अपने सीनियर खिलाड़ियों से हमेशा कुछ नया सीखते आए हैं. जब आप युवा होते हो तो आप नहीं जानते कि आपको कहां जाना है और क्या करना है. उन्होंने कहा कि मालिंगा जैसे गेंदबाजों के नियमित संपर्क में रहने से भी एक तेज गेंदबाज के रूप में आगे बढ़ने में उन्हें काफी मदद मिली है. 

बुमराह ने कहा कि जब वह 2013 में 19 साल के थे तब वह मुंबई इंडियन के साथ हैं. तब वह काफी युवा थे जिसने प्रथम श्रेणी क्रिकेट भी नहीं खेली थी, इसलिए मलिंगा से बात करना और उनसे सीखना बुमराह के लिए बहुत उपयोगी रहा. बुमराह ने कहा कि पिछले 3-4 वर्षों में उन्होंने मलिंगा से काफी कुछ सीखा है. उनका साफ कहना था कि जो भी ज्ञान आप प्राप्त करते हो वह बहुत महत्वपूर्ण होता है.

You May Also Like

English News