केंद्रीय गृहमंत्री ने की ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान की शुरुआत…

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भारत तिब्बत सीमा पुलिस कैंपस में आयोजित एक कार्यक्रम में गृह मंत्रालय के ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान का शुभारंभ किया. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने इस स्वछता अभियान कार्यक्रम में शामिल होते हुए कहा कि माननीय प्रधानमंत्री के आह्वान पर चल रहे ‘स्वच्छ भारत’ अभियान पर आधारित यह कार्यक्रम 15 सितंबर, 2017 से गांधी जयंती यानी 2 अक्टूबर, 2017 तक आयोजित होगा.केंद्रीय गृहमंत्री ने की 'स्वच्छता ही सेवा' अभियान की शुरुआत...मोदी सरकार के खिलाफ कांग्रेस ने, विपक्षी दलों के साथ साझी विरासत बचाओ सम्मेलन में एकजुटता किया प्रदर्शित

सफाई अभियान चलाएगा ITBP

इस दौरान गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने ITBP के जवानों को स्वच्छता की शपथ भी दिलाई. गृह मंत्री राजनाथ सिंह के साथ ITBP के डीजी आरके पचनंदा ने भी इस अभियान की शुरुआत के लिए ITBP का चयन करने पर गृहमंत्री का आभार व्यक्त किया और कहा कि ITBP इस स्वच्छता पखवाड़े पर अपनी भूमिका का निर्वाह करेगा और इस मौके पर वह अलग-अलग स्थानों पर सफाई अभियान चलाएगा.

‘स्वच्छता ही सेवा है’ का नारा

आपको बता दें कि केंद्र सरकार आगामी 2 अक्टूबर तक ‘स्वच्छता ही सेवा है’ के नारे के साथ देशव्यापी अभियान चला रही है. 15 सितंबर से शुरू हुए इस अभियान को उत्सव के तौर पर मनाया जाएगा. मोदी सरकार की अति महत्वाकांक्षी योजना स्वच्छ भारत मिशन के तहत पूरे देश में स्वच्छता की अलख जलाई जाएगी. 

लोगों को प्रेरित किया जाएगा

महात्मा गांधी के स्वच्छ भारत के सपने को पूरा करने के लिए स्वच्छता एवं पेयजल मंत्रालय ने देशव्यापी अभियान चलाने का फैसला किया है. गांधी जयंती यानी 2 अक्टूबर तक कई तरह के कार्यक्रम किए जाएंगे. इसमें श्रमदान के लिए लोगों को प्रेरित किया जाएगा.

हर साल 50 हजार रुपये की बचत

स्वच्छता का ताल्लुक स्वास्थ्य, महिलाओं की सुरक्षा और सम्मान से भी है. स्वछता से देश की अर्थव्यवस्था सीधे तौर पर जुड़ी हुई है. यूनिसेफ की एक रिपोर्ट के मुताबिक स्वच्छता के प्रति जागरूक हो कर एक परिवार कम से कम 50 हजार रुपये प्रतिवर्ष बचा सकता है.

loading...

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English News