पूर्व विधायक के बेटे ने दिखाई दबंगई, गाड़ी के पेपर मांगने पर दरोगा सहित पुलिसवालों की पिटाई

सुल्तानपुर में वाहन चेकिंग के दौरान समर्थक की मोपेड पकड़े जाने से नाराज पूर्व विधायक के बेटे ने समर्थकों के साथ दरोगा और चार सिपाहियों की पिटाई कर दी। एसपी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए हर हाल में हमलावरों को गिरफ्तार करने का पुलिस को आदेश दिया।पूर्व विधायक के बेटे ने दिखाई दबंगई, गाड़ी के पेपर मांगने पर दरोगा सहित पुलिसवालों की पिटाईBig News: पीएनबी के ग्राहकों के लिए बड़ी खबर, जानिए क्या है !

देर रात तीन दरोगा के साथ 20 पुलिस कर्मियों ने पूर्व विधायक के घर पर छापा मारकर उनके पौत्र को गिरफ्तार कर लिया, जबकि अन्य आरोपी फरार हो गए। साथी की पिटाई से नाराज पुलिस कर्मियों ने विधायक के घर में तोड़फोड़ भी की। पुलिस ने पीड़ित दरोगा की तहरीर पर पूर्व विधायक के बेटे व पौत्र समेत पांच नामजद व 12 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। दूसरी तरफ पूर्व विधायक ने पुलिस कर्मियों पर घर में लूटपाट करने का आरोप मढ़ा है।

शनिवार की शाम करीब छह बजे जयसिंहपुर कोतवाली में तैनात दरोगा पवन मिश्र प्राइमरी पाठशाला जयसिंहपुर मोड़ के पास वाहनों की चेकिंग कर रहे थे तभी मोपेड सवार राम उजागिर विश्वकर्मा वहां पहुंचे। पुलिस कर्मियों ने राम उजागिर को रोककर कागजात मांगे।

राम उजागिर विश्वकर्मा ने वाहन का कागजात नहीं होने की बात कहते हुए पूर्व विधायक व सपा नेता राम रतन यादव के बेटे व बगिया गांव के प्रधान राम विशाल यादव से फोन पर बात करते हुए मोबाइल दरोगा पवन मिश्र को थमा दिया। एसआई पवन मिश्र ने पूर्व विधायक के बेटे से बात करने से इंकार कर दिया।

पुलिसकर्मियों ने देर रात विधायक के घर मारा छापा

इससे पूर्व विधायक के बेटे का पारा चढ़ गया और वे समर्थकों के साथ चेकिंग स्थल पर पहुंच गए। प्रधान रामविशाल की दरोगा पवन मिश्र से कहासुनी शुरू हो गई। इस बीच पूर्व विधायक के बेटे ने समर्थकों के साथ दरोगा पवन मिश्र, सिपाही वीरेंद्र कुमार, धर्मेंद्र कुमार, रंजीत कुमार व विजय कुमार की पिटाई कर दी।

प्रधान मोपेड छुड़ाकर राम उजागिर को साथ लेकर चले गए। घटना से आहत दरोगा पवन मिश्र ने इसकी सूचना एसपी अमित वर्मा को दी। एसपी ने दरोगा की पिटाई में शामिल सभी आरोपियों को हर हाल में गिरफ्तार करने का आदेश दिया।

एसपी के सख्त रुख को देखते हुए जयसिंहपुर कोतवाली में तैनात तीन दरोगा व 20 पुलिस कर्मी पूर्व विधायक के आवास पर रात करीब साढ़े आठ बजे छापा मार दिया। छापे के दौरान पूर्व विधायक के बेटे राम विशाल के पुत्र अंकित को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया, जबकि अन्य लोग फरार हो गए।

दरोगा पवन मिश्र की पिटाई से नाराज पुलिस कर्मियों ने पूर्व विधायक के घर में तोड़फोड़ भी की। जयसिंहपुर पुलिस ने दरोगा पवन मिश्र की तहरीर पर पूर्व विधायक के बेटे राम विशाल यादव, पौत्र अंकित समेत पांच नामजद व 12 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

पूर्व विधायक ने लगाया लूटपाट का आरोप

पूर्व विधायक ने कहा, दरोगा पवन मिश्र ने उनके बेटे के साथ अभद्रता की थी। घटना के वक्त उनका बेटा अकेला था। पुलिस कर्मिंयों ने उनके घर में तोड़फोड़ की और घर में रखे 48 हजार रुपये के साथ ही सोने की चेन व अंगूठी लूट ले गए। उन्होंने मामले की शिकायत डीजीपी के साथ ही मुख्यमंत्री से की है।

प्रधान ने मारपीट से किया इनकार
पूर्व विधायक राम रतन यादव के बेटे व बगिया गांव के प्रधान राम विशाल यादव ने बताया कि वे दरोगा पवन मिश्र के पास राम उजागिर की मोपेड छोड़ने की सिफारिश लेकर गए थे, लेकिन दरोगा ने उनके साथ अभद्रता की। हमने किसी के साथ कोई मारपीट नहीं की है।

पुलिस कर्मियों ने मांगी थी घूस
वहीं, जयसिंहपुर निवासी मोपेड मालिक राम उजागिर विश्वकर्मा ने बताया कि वे शनिवार की देर शाम मोपेड लेकर घर लौट रहे थे। चेकिंग के दौरान पुलिस कर्मियों ने एक हजार रुपये घूस की मांग की। घूस मांगने की सूचना पूर्व विधायक के बेटे को दी थी। पुलिस कर्मियों ने पूर्व विधायक के बेटे के साथ हाथापाई की है।

loading...

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English News