राहत नहीं मिलने पर पुलिस की पिटाई की बाढ़ पीड़ितों ने, रायफल छीनने की भी कोशिश

कटिहार.बाढ़ पीड़ितों का राहत के लिए आक्रोश बढ़ता जा रहा है। गुरुवार को बाढ़ पीड़ितों के आक्रोश को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय सहित डंडखोरा के सीओ सहित कई लोगों को झेलना पड़ा और शुक्रवार को यह आक्रोश प्रखंडों से उत्तर कर जिला मुख्यालय पहुंच गया। लगभग तीन-चार हजार बाढ़ पीड़ित जो कटिहार प्रखंड के मधेपुरा, रक्सा, बठेली, खैरा अादि गांव के थे। हाथों में लाठी, बांस का डंडा लिए हुए कटिहार प्रखंड राहत की मांग करते हुए पहुंच गये। इनके तेवर देखकर प्रखंड के कई कर्मी भाग खड़े हुए।
राहत नहीं मिलने पर पुलिस की पिटाई की बाढ़ पीड़ितों ने, रायफल छीनने की भी कोशिश
 
हालांकि बाद में प्रखंड के अधिकारियों ने इन्हें यह कहकर शांत किया कि समीप के हरिशंकर नायक विद्यालय में राहत सामाग्री दी जायेगी। वहीं दो घंटे इंतजार करने के बाद जब राहत सामाग्री पहुंची तो बाढ़ पीड़ितों का गुस्सा बढ़ गया। राहत सामाग्री के नाम पर सिर्फ चुड़ा और गुड़ था। जबकि बाढ़ पीड़ित की सबसे बड़ी मांग पॉलिथीन और पेयजल की थी। इसे लेकर काफी संख्या में महिलाओं ने हंगामा किया। इतना ही नहीं हंगामा और प्रदर्शन को शांत करने के लिए पहुंची पुलिस के साथ मारपीट भी की गई। बाढ़ पीड़ितों ने पुलिस से रायफल छीनने का भी प्रयास किया। जवाब में पुलिस कर्मियों ने भी डंडे चलाये और लाठियां भांजी। इसके बाद पुलिस कार्रवाई के विरोध में बाढ़ पीड़ित शहर के मिरचाईबारी चैक पर जमा होकर बांस, बल्ले, लाठी के साथ जमकर प्रदर्शन किया, सड़क को तीन घंटे जाम कर दिया।

अब राहुल गांधी शनिवार को जायेंगे गोरखपुर,पीडि़त परिवारों से करेंगे मुलाकात!

कई पुलिस कर्मी हुए घायल
इस प्रदर्शन में पुलिस कर्मी अनु कर्मी, पुनिता कुमारी, ममता कुमारी को चोटें भी आई। महिला बाढ़ पीड़ितों ने उन्हें निशाना बनाया। बाढ़ पीड़ित महिला सजनी देवी, तेतरी देवी, बुधेली देवी का कहना है कि राहत मांगने पर लाठियां चलाई गई। वहीं पुलिस की कार्रवाई से कई बाढ़ पीड़ित महिलाओं काे चोटें आई है। बहरहाल बाढ़ पीड़ितों के सड़क जाम से पिछले तीन घंटों से मिरचाईबारी चौक जाम है। बाढ़ पीड़ितों का तेवर यह है कि शाम के साढ़े पांच बजे तक कोई अधिकारी बाढ़ पीड़ितों को समझाने नहीं पहुंचा है तो दूसरी ओर कटिहार नगर थाना एवं सहायक थाना की पुलिस तमाशबीन बनी हुई है।

 
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष को बाढ़ पीड़ितों ने घेरा
बता दें कि बाढ़ पीड़ितों का गुस्सा अब परवान पर है और सड़कों पर दिखाई पड़ रहा है। हालांकि पानी घट रहा है। लेकिन राहत की मांग तेज होती जा रही है। लोग राशन और खाद्य सामाग्री के अलावा चारा, पानी और पॉलिथीन की मांग कर रहे है। गुरुवार को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय अपने समर्थकों के साथ राहत सामाग्री को लेकर पहुंचे थे। जिसपर बाढ़ पीड़ित टूट पड़े और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय का घेराव भी किया। किसी प्रकार नित्यानंद राय अपने लाव लश्कर और सुरक्षा कर्मी के सहयोग से निकलने में सफल हुए। जबकि विधान पार्षद अशोक अग्रवाल की ओर से प्राणपुर की ओर गया राहत सामाग्री को ग्रामीणों ने एक तरह से लूट लिया और अगर विधान पार्षद अशोक अग्रवाल के कर्मचारी तत्परता नहीं दिखाते और वहां से नहीं निकलते तो उन्हें बाढ़ पीड़ितों के आक्रोश का सामना करना पड़ता।
डंडखोरा सीओ के साथ धक्का मुक्की
डंडखोरा के अंचलाधिकारी निर्भय कुमार मिश्रा से राहत की मांग करते हुए बाढ़ पीड़ित अंचल कार्यालय पहुंच गये और जमकर हंगामा किया। सीओ के साथ धक्का-मुक्की की सीओ को किसी प्रकार अपनी जान बचाने के लिए भागना पड़ा। इतना ही नहीं हेलीकॉप्टर से जो राहत सामाग्री गिराये जा रहे है, उसे भी बाढ़ पीड़ित लूट रहे हैं।

You May Also Like

English News