भारत के इस गांव में महिलाओं को पति के भाइयों से भी करनी पड़ती है शादी, जाने क्यों

महाभारत में द्रौपदी के पांच पति थे। युधिष्ठिर, भीम, अर्जुन, नकुल और सहदेव। वे पांचों भाई थे और द्रौपदी के पति भी। लेकिन कथा से इतर अगर ऐसा असलियत में हो तो। भारत में एक गांव है, जहां महिलाओं के उनके पहले पति के भाइयों से शादी करने की परंपरा है। यानी वह सभी भाइयों की बीवी होती है।

भारत के इस गांव में महिलाओं को पति के भाइयों से भी करनी पड़ती है शादी, जाने क्यों

उत्तराखंड के देहरादून में यह गांव है। 21 साल की राजो यहां परिवार संग रहती हैं। उनकी कहानी भी द्रौपदी से मेल खाती है। उनके भी पांच पति हैं। हर रात वह अलग-अलग पतियों के साथ बिताती हैं। उनका एक बेटा भी है, लेकिन पांच पति होने के कारण उन्हें यह नहीं मालूम कि वह उन्हें किससे हुआ है।

सीएम योगी का बड़ा ऐलान: शहीद दरोगा को वीरता पदक, परिवार को 50 लाख की दी जाएगी आर्थिक सहायता

राजो से जब एक-साथ पांच लोगों (सभी भाई) से शादी करने को कहा गया था, तो शुरुआत में उन्हें अजीब लगा। हालांकि, बाद में वह इसके लिए राजी हो गईं। चार साल पहले उनकी शादी गुड्डु नाम के शख्स से हुई थी। तब से वह उसके भाई बैजू (32), संत राम (28), गोपाल (26) और दिनेश (19) की बीवी भी हैं।

वह इन सभी के साथ एक कमरे में ही रहती हैं। बारी-बारी से सबके साथ रात गुजारती हैं। इस दौरान बाकी के चार भाई नीचे चादर बिछा कर सोते हैं। उनके 18 महीने का एक बेटा भी है, लेकिन पांच पतियों के होने से यह नहीं पता कि उसका पिता कौन है। गुड्डू बताते हैं कि हम सब उसके साथ शारीरिक संबंध बना चुके हैं, लेकिन किसी को इस बात की जलन नहीं है। हम एक खुशहाल परिवार हैं।

 

You May Also Like

English News